82 total views

देश के कई विश्वविद्यालयों मे एक बार फिर लैप्ट बनाम राईट पर बबाल मचा हुवा है ताजा बबाल बी बी सी की वह डाक्यूमैन्ट्री फिल्म को लेकर मचा है , जिसमे 2002 के गुजरात दंगों मे प्रधानमन्त्री मोदी को लेकर बनाई गई उस डाक्युमैन्ट्री को लेकर है जिसे बी बी सी ने लंन्दन मे रिलीज कर दिया जबकि भारत मे केन्द्र सरकार के सैन्सर बोर्ड ने इस पर रोक लगा दी है । रोक लगाने के बाद बामपन्थी छात्र संगठनों का कहना है कि यह मीड़िया पर सेंन्लर है , बी जे पी भारत मे जबा इमरजैंसी का खिलाफत करती है अब बी जे पी सरकार भी वह भी बैसा ही कर रही है । इमरजैंसी कानूनो के तहत मीड़िया पर रोक लगा रही है ।

सरकार द्वारा प्रतिबन्धित बी बी सी की 2002के दंगों को लेकर बनी डाक्युमैम्ट्री फिल्म को इस बैन के बाद ज्यादा प्रचार मिल गया है । अब छात्र संगठन लैपटौप मोबाईल पर इसे वाईरल कर रहे है वे इसका सामुहिक अवलोकन करने की जिद कर रहे है । जिस कारण पुलिस व छात्रों के बीच विवाद गहराता जा रहा है , डाक्युमैन्ट्री फिल्म को गैर बी जे पी शासित राज्यों मे केम्द्र सरकार की रोक के बाद भी देखा जा रहा है ताजा विवाद जामिया मिलिया विश्वविद्यालय व जे एन यू मे हो रहा है । बामपन्थी छात्र संगठन व दक्षिण पंथी छात्र संगठन आमने सामने है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.