Loading

चम्पावत , यहा सुई गाव मे उस संय ह्रदय विदारक घटना घटित हो गई जब गांव में 52 वर्षीय दीपक जोशी की उस समय दुखद मृत्यु हो गई जब वह फेरे ले रही थी यह दीपक की सबसे छोटी बेटी थी जो पिता के आशिर्वाद से वंचित रह गई ।तीन बेटियों में सबसे छोटी बेटी सुनीता का रविवार को विवाह होना था।इसी दौरान पिता का स्वास्थ बिग़ गया उन्हे आनन -फानन मे उनको भर्ती किया गया । जब उनके स्वास्थ्य में सुधार हुवा तो परिजन उसके बाद उन्हें घर ले आए। तभी बारात के दिन ही सुबह उनका फिर से स्वास्थ्य फिर बिगड़ गया। पुन: दीपक जोशी को जिला अस्पताल चंपावत में भर्ती किया गया। जबा चिकित्सको ने उन्हें बचाने का पूरा प्रयास किया, उसी दिन नियत समय पर बारात देवीधुरा से गांव में आ गई,। जब बेटी सुनीता निर्मल के साथ फेरे ले रही थी, उसी वक्त पिता ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। निर्मला को यह घटना शसुराल मे दूसरे दिन पता चली परिजनों ने उसे इस घटना के बारे मे नही बताया था निर्मला को उसकी बिदाई मे पिता का प्रत्यक्ष आशिर्वाद मा मिलने का दुख है । यह घटना क्षेत्र मे चर्चा का बिषय बन गई , । सभी लोग मृतक के प्रति संवेदना ब्यक्त कर रहे है ।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.