101 total views

  मुझे बहु चाहिये कोई  28  से 32 तक की लड़की बताईये , बेचे की शादी करनी है ।  बेटा अच्छी नौकरी कर रहा है आई टी कम्पनी में काम कर रहा है , अच्छा कमा लेता है बस एक बहु की जरूरत है । कोई योग्य हो तो बताइये , ना जाने कितने लोगों ने ये बात हमें बोल दी है । इनमे से कुछ तो  बहुत खास यनि परिवार के ही  सदस्य है । कुछ मित्र व कुछ परिचित व अंन्जान ।

1992 के आस पास का दौर था चिकित्सक खुलेआम अल्ट्रासाऊण्ड मशीन ले कर आते थे उनके दिवस अलग – अलग स्थानों में फिक्स थे , अल्ट्रासाउण्ड़ की जांच होती थी यदि विटिया निकली तो कोख में ही कत्ल की जाने लगी ।  बड़ी बेशर्मी  से स्त्री पुरुष कोख में ही कत्ल को अंजाम देने में गर्व की अनुभूति करते थे जबकि इन हत्यारों को आत्म ग्लानि होनी चाहिये थी । आज समाज में बालक व बालिकाओं के बीच जन्म अनुपात में काफी अन्तर  आ गया इस समय 24 से 32 साल की बालिकाये मिलना ही   कठिन हो  गया है  ।  एक दौर  था जब अनुपातिक  रूप से   बालिकाओं की संख्या  ज्यादा थी  किन्तु  अब अनुपातिक  रूप से बालकों की संख्या ज्यादा है  । ऐसे दौर में बहु ढूढना किसी  खजाना ढूढने से कम नही है ।  

सैक्स अनुपात मे अन्तर  व बहुओं के लिये सबसे प्रभावित राज्यों में सबसे प्रमुख राज्य हरियाणा व पंजाब राज्य रहे है  हरियाणा मेंभ्रूण हत्या के खिलाफ पहली आवाज स्वामी अग्निवेश ने उठाई  उनके सुर मे सुर मिलाती हुई बहिन प्रवेश आर्या ने  रोहतक विश्व विद्यालय मेअपनी विश्वविद्यालय की नौकरी छोड दी    कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ आवाज उठाने लगी हरियाणा सरकार ने उन्हे बेटी बचाओं रथ भैंट किया

अपने उत्तराखण्ड मे अब  एक या दो बच्चों का चलन आरम्भ हो गया है  ।  यदि पहला लड़का हुवा तो दूसरे का नम्बर ही नही आता पर यदि पहली  संन्तान  लड़की हुई  तब दूसरी संतान हो सकती है  वह हर हाल मे लड़का ही हो अक्सर  लोगों की यही मानसिकता रहती है   । ऐसे मे सवाल उठना लाजिमी है कि  बहु किस घर से आयेगी  दहेज व इसी को देखकर देश के कई राज्यो मे सांटा नियम लागू हो गया है  यनि जिस घर मे लड़की दी उसी घर से लडकी लानी भी है अब पहाड़ो मे भी यह बात होने लगी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.