25 total views

महिलाओं के अधिकारों और उपलब्धियों के सम्मान में मनाया जाता अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
अल्मोड़ा। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलकक्ष में सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के शिक्षा संकाय में चल रहे तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन गुरुवार को हो गया है। यह कार्यक्रम लक्ष्मी देवी टम्टा महिला अध्ययन केंद्र की ओर से आयोजित किया गया।
समापन अवसर पर सोबन सिंह जीना परिसर के निदेशक प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट ने कहा कि विश्वभर में हर साल 08 मार्च को महिला दिवस के रूप में सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन को दुनिया भर की महिलाओं के अधिकारों और उपलब्धियों के सम्मान के रूप में याद किया जाता है। कहा कि महिलाओं को सशक्त बनाने वाले इस दिन को मनाने की शुरुआत सबसे पहले साल 1909 में हुई थी।
वहीं शिक्षा संकाय की विभाग अध्यक्ष व डीन प्रो भीमा मनराल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का उद्देश्य समाज में महिलाओं को बराबरी का हक दिलाना साथ ही किसी भी क्षेत्र में महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव को रोकने के मकसद से भी इस दिवस को मनाया जाता है। इस दिन महिलाओं के अधिकारों की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने और उन्हें जागरूक करने के मकसद से कई कार्यक्रम और कैंपेन भी आयोजित किए जाते हैं। असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ नीलम ने संबोधित करते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2024 की थीम इंस्पायर इंक्लूजन (एक ऐसी दुनिया,जहां हर किसी को बराबर का हक और सम्मान मिले) रखी गई है।
इस मौके पर डॉ रिजवाना सिद्दीकी, लक्ष्मी देवी टम्टा महिला अध्ययन केंद्र की संयोजक डॉ संगीता पवार, डॉ देवेंद्र सिंह चम्याल, मंजरी तिवारी, अंकिता कश्यप, सरोज जोशी, मनोज कुमार, डॉ ममता कांडपाल मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.