93 total views

भारतीय कुस्ती फैडरेशन के अध्यक्ष यौन उत्पीड़न के आरोपी बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एफ आई आर दर्ज कर दी गई है बृजभूषण सिंह पर महिला पहलवानों ने आरोप लगाया है कि अंतरराष्ट्रीय खेलों में बृजभूषण से उनके साथ यौन उत्पीड़न किया है दिल्ली के जंतर मंतर पर महिला कुस्ती खिलाड़ियों का धरना जारी है उनके समर्थन में किसान यूनियन के नेताओं समेत देशभर के विभिन्न राजनीतिक और सामाजिक संगठनों के लोग जंतर मंतर में धरना दे रहे और बृजभूषण सिंह की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं ब्रज भूषण सिंह पर भारतीय कुश्ती को आगे बढ़ाने का दायित्व है औलम्पिक खेलों मे सबसे अधिक गोल्ड मैडिल महिला पहलवानों के नाम दर्ज है । राजनीतिक जीवन में बृजभूषण सिंह आडवाणी द्वारा की गई राम मंदिर के निर्माण के लिए रथयात्रा के चालक थे वह भारतीय जनता पार्टी की राजनीति में एक कद्दावर नेता है। जिस प्रकार यौन उत्पीड़न के आरोप में आसाराम सजा काट रहे हैं वही बृजभूषण सिंह के खिलाफ एफ आई आर दर्ज नहीं हो रही थी इसको देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया और कहा कि वह कि सरकार एफ आई आऱ दर्ज कराये तथा ईस की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होगी इसके बाद बृजभूषण सिंह बैकफुट पर नजर आ रहे हैं देश के कानून के हिसाब से युद्ध यौन उत्पीड़न के आरोपी को सलाखों के पीछे किया जाता है 80 साल की उम्र में आसाराम जिस प्रकार से आज सलाखों के पीछे हैं उसी प्रकार का आरोप बृजभूषण भी लगा है उन्हें यह साबित करना है कि उन्होंने पहलवानों के साथ कोई यौन उत्पीडन नहीं किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.