Loading

जोशीमठ आखिरकार केदारनाथ मन्दिर के कपाट खोल दिये गये हजारों वोगों रा जनसैवाव केदारनाथ पहुच रहा है , । इसमे से कई लोग अपने आस्था व परम्परा को वेकर केदारनाथ पहुच रहे है वही समाज का एक ऐसा तबका भी वहा पहुच रहा है जो इस  यात्रा को एक मनोरंजक इवेन्ट के रूप मे आयोजित कर अपने कारोबार को फेमश करने की जुगत भिड़ा रहा है । इसी क्रम मे जहा यू ट्यूवर्स के कैमरो ने धमाल मचा रखा है तो कुछ युवाओं ने अपने बैण्ड को फेमश करने के लिये केदारनाथ को चुना , यह केदार कोई मनोरंजन की भूमि नही साधना की भूमि है , अत: लोगों का मानना है कि इस तरह की परम्पराओको अनुमति देने से इस धाम की परम्परागत   परम्पराओं मे खलल पड़ता है ।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.