34 total views


अल्मोड़ा उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने उत्तराखंडी अस्मिता की रक्षा के लिए देहरादून में 24 दिसंबर को आयोजित मूल निवास स्वाभिमान महारैली का समर्थन किया है। उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि राज्य में मूल निवास के स्थान पर स्थाई निवास की व्यवस्था किए जाने से स्थानीय लोगों के हितों पर कुठाराघात हुआ है। उन्होंने कहा कि उपपा रोजगार को मौलिक अधिकार बनाने की पक्षधर है। राज्य निर्माण के बाद पिछले 23 वर्षों में दिल्ली से संचालित राष्ट्रीय दलों की कठपुतली सरकारों ने जिस तरह से राज्य में लूट खसोट कर राज्य की अवधारणा को ध्वस्त किया है उसके खिलाफ क्षेत्रीय हितों के लिए एकजुट होने की अपील की है।
उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि उत्तरखंड के प्राकृतिक संसाधनों, जमीनों की निर्मम लूट के साथ यहां व्यवसायों पर सरकार के संरक्षण में बाहरी पूंजीपतियों, माफियाओं का कब्जा हो रहा है। इंवेस्टर समिट में नाम पर पूंजीपतियों को बिना सोचे समझे यहां के संसाधनों, जमीनों पर काबिज कराया जा रहा है।
उपपा ने यहां कहा कि बेरोजगारी, महंगाई, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं का व्यापारिकरण हुआ है जिससे जनता त्रस्त है व पहाड़ लगभग खाली हो चुके हैं।
तिवारी ने कहा कि कांग्रेस, भाजपा की सरकारों ने विधानसभाओं के परिसीमन जैसे सवालों पर राज्य के हितों के साथ धोखा किया है। राज्य में उत्तराखंडी सोच की सभी ताकतों से एकजुट होकर उत्तराखंड में एक सशक्त राजनीतिक विकल्प खड़ा करने हेतु आंदोलन तेज करने की अपील करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.