Loading


अल्मोड़ा उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने उत्तरकाशी में सिल्यारा सुरंग में 7 दिनों से फंसे चालीस श्रमिकों को अबतक सुरक्षित न निकाल पाने को लेकर निर्माण एजेंसियों और सरकार की आलोचना की है। उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि इस हिमालयी क्षेत्र में बन रही लगभग हर बड़ी परियोजना में संभावित दुर्घटनाओं की पूर्व सूचना देने व बचाव कार्यों की व्यवस्था का अभाव सामने आ रहा है। परिवर्तन पार्टी ने कहा कि इस संवेदनशील हिमालयी राज्य में विकास के नाम पर पूंजीपतियों, छोटी बड़ी कंपनियों को मनमानी की छूट मिली हुई है यह सारा खेल हमारी सरकारों के संरक्षण में होता आ रहा है लेकिन अब स्थितियां गंभीर हो चुकी हैं।
उपपा ने कहा कि उत्तराखंड में शासन प्रशासन में व्याप्त भ्रष्टाचार और गैर जिम्मेदारी के कारण हमारे नौकरशाह व राजनेताओं के सामने नतमस्तक हो रहे हैं इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। उपपा ने सिल्यारा सुरंग की घटना की जिम्मेदार कंपनी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने एवं राज्य में सभी बड़ी परियोजनाओं को मंजूरी देने वाली संस्थाओं और लोगों को दुर्घटना होने पर उनकी जिम्मेदारी तय करने की व्यवस्था सुनिश्चित करने की मांग की।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.