Loading

विश्वविद्यालय में नियुक्तियों को लेकर हुई समीक्षा बैठक
कुलपति प्रो भंडारी की अध्यक्षता में हुई बैठक

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो नरेंद्र सिंह भंडारी की अध्यक्षता में अधिष्ठाता प्रशासन,समस्त संकायाध्यक्षों, प्रभारी कुलसचिव की एक संयुक्त बैठक हुई और विश्वविद्यालय में नितांत अस्थायी शिक्षकों और कार्मिकों की विगत 2 वर्षों में हुई नियुक्तियों के संबंध में समीक्षा की गई।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो भंडारी द्वारा बताया गया कि विश्वविद्यालय के गठन के बाद कोई भी स्थायी नियुक्ति नहीं कि गई है। विश्वविद्यालय के शैक्षिक एवं प्रशासनिक गतिविधियों/व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए नितांत अस्थायी व्यवस्था की गई है।
विश्वविद्यालय के परिसर के लिए 41 नितांत अस्थायी शिक्षक, परिसर में ही 12 नितांत अस्थायी (मल्टी पर्पज,मेट्रन आदि) एवं 12 कार्मिकों की विश्वविद्यालय में नियुक्ति समुचित प्रक्रिया के तहत की गई है। नितांत अस्थायी शिक्षकों (गेस्ट फेकल्टी) की नियुक्ति के लिए यूजीसी के नियमों का परिपालन हुआ है तथा इसका विज्ञापन अखबार एवं वेबसाइट दोनों में दिया गया है। नितांत अस्थायी कार्मिकों हेतु विज्ञप्ति विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर प्रकाशित की गई थी। इनकी नियुक्तियां (6माह हेतु) भी नियमों के तहत एवं विशेषज्ञों की समिति की अनुशंसा पर की गई है। समाज में विश्वविद्यालय की छवि को धूमिल करने का जो प्रयास किया जा रहा है वह ठीक नहीं है। बैठक में निर्णय लिया गया है कि विधिक राय लेकर समुचित कार्यवाही की जाएगी।
बैठक में परिसर के अधिष्ठाता प्रशासन , समस्त संकायों के संकायाध्यक्षों ने संकाय में हुई नियुक्तियों की जानकारी दी।
इस बैठक में अधिष्ठाता प्रशासन प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट, संकायाध्यक्ष विज्ञान प्रो जया उप्रेती, संकायाध्यक्ष वाणिज्य प्रो एम एम जिन्नाह, संकायाध्यक्ष शिक्षा प्रो भीमा मनराल, संकायाध्यक विधि प्रो डी पी यादव, प्रभारी कुलसचिव डॉ देवेंद्र सिंह बिष्ट उपस्थित रहे।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.