27 total views

अल्मोड़ा पानी बोओ पानी उगाओ अभियान के अंतर्गत पर्यावरण चेतना मंच आदर्श इंटर कॉलेज सुरई खेत बिठौली के छात्र-छात्राओं ने रिस्कन नदी के जल स्तर को समझने के लिए 18 किलोमीटर की पदयात्रा बसंत पंचमी के दिन की। पदयात्रा के दौरान ग्राम वलना ग्राम रणा ग्राम बेढुली ग्राम सुनाडी व सिमल गांव के कई बुजुर्ग लोगों से घटते जल स्तर को जानने की कोशिश की गई ज्यादातर ग्रामीण का जलस्तर घटने का मुख्य कारण बंजर होती खेती व जंगलों में लग रही आग को बताया उनके द्वारा रिसकन नदी को बचाने हेतु चौड़ी पाततीदार पौधे व खेतों में पुनः हल जोतने की आवश्यकता बताया।ग्रामीणों द्वारा पलायन रोकने हेतु सरकार को ठौह नीति बनाने का सुझाव दिया गया।
पानी बोओ पानी उगाओ अभियान के संयोजक मोहन कांडपाल ने बताया की पदयात्रा के दौरान कई नौले धारों की सफाई व नदी की सफाई कर ग्रामीणों को जागरूक करने का प्रयास बच्चों द्वारा किया गया उन्होंने कहा कि आज किताबि शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को व्यवहारिक शिक्षा दे कर अपने परिवेश से जोड़ना चाहिए विद्यालय के आसपास की नदियों व जंगलों को समझने हेतु उन्हें समय-समय पर पदयात्राएं करनी चाहिए वह गोष्ठीया करनी चाहिए जिससे वह भविष्य में पर्यावरण व ग्रामीण क्षेत्र को समझ सके।
पदयात्रा में विनीत बसेड़ा विकी बिष्ट सुजल कुमार दिवाकर पुजारी दक्ष बिष्ट सोनाक्षी बिष्ट भावना बिष्ट शीतल नेगी हर्षित पुजारी व हर्षिता कांडपाल ने संयोजक मोहन कांडपाल के नेतृत्व में प्रतिभा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.