26 total views

राजनैतिक दलों को  चुनावी बौन्ड़ के जरिये  दिये गये चन्दे को  सार्वजनिक करने के लिये सुप्रिम कोर्ट ने एस बी आई को 12मार्च साम तक का समय दिया है , । एस बी आई मे सुप्रिम कोर्ट मे अपील की थी कि उसे जून तक का समय दिया जाय,दरअसल  इस मामले मे सुप्रिम कोर्ट ने  11मार्च को सुनवाई करते हुवे कहा कि इससे सम्बन्धित आंकड़े एस बी आई निर्वाचन आयोग की बेबसाईड मे डाले और निर्वाचन आयोग 15 मार्च तक इसे सार्वजनिक करें ,। सुप्रिम कोर्ट के इस फैसले के बाद  अब एस बी आई व निर्वाचन आयोग भारी दबाव मे है इस बीच देश में दो निर्वाचन आृुक्तों मे से एक अरुण गोगोई अपना त्यागपत्र दे चुके है । जिस प्रकार निर्वाचन की तिथिया नजदिक आ रही है उससे स्पष्ठ होता है कि अब देश मे एक ही निर्वाचन आयुक्त के कन्धे पर निर्वाचन कराने का दायित्व होगा 1992 रे बाद देश मे यह स्तिथि बनी है ।

सुप्रिम कोर्ट मे चुनावी बौण्ड के जरिये राजनैतिक दलों को चन्दा देने वाले उद्योग पतियों के नाम सार्वजनिक करने के लिये दिये गये निर्गेशो के बाद जहां बिपक्षी पार्टियों मे खुशी की लहर है वही सत्ताधारी पार्टी दबाव में है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.