Loading

अंकिता भंडारी हत्याकांड के सवाल पर जहां पूरे उत्तराखण्ड मे उबाल है ।ऐसे में आरएसएस के एक जिम्मेदार नेता (विभाग प्रचार प्रमुख) विपिन कर्णवाल के बयान ने विवाद पैदा कर दिया जिस पर करिणवाल सोसियल मीड़िया पर घिरते हुव् नजर आ रहे है । लोग आरएसएस नेता विपुन कर्णवाल के गिरफ्तारी की मांग कर रहे है । उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर सैकड़ों की संख्या में लोगे ने थाने का घेराव किया
गौर हो कि बीते रोज अंकिता के परिवार को लेकर आरएसएस नेता विपिन कर्णवाल ने सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी की थी कांग्रेस ने भी उनके बयान के खिलाफ दून तिराहे पर विपिन कर्णवाल का पुतला फूंकातथा आर एस एस को भी निशाने पर लिया और ऋषिकेश कोतवाली में पुलिस को अंकिता मामले में पोस्ट वायरल होने पर गिरफ्तारी की मांग ने जोर पकड़ लिया इस बीच संघ नेता विपिन कर्णवाल ने माफी है उन्होंने सफाई देते हुवे कहा उनका नजरिया गलत नही था । फिर भी यदि किसू की भावनाये आहत हुई है तो वे माफी मांगते है ।
श्रीनगर में भी अंकिता हत्याकांड को लेकर छात्रों में उबाल है। गढ़वाल विश्वविद्यालय के छात्र नेताओं ने तहसील प्रशासन में धरना पदर्शन कर उपजिलाधिकारी कार्यालय का घेराव किया। विपिन कर्णवाल ने सोसियल मीड़िया मे लिखा था कि- बाप ने भूखे बिल्लों के सामने रखा कच्चा दूध वे इसलिए अंकिता के समर्थन में हो रहे धरना प्रदर्शनों में नहीं गये उन्होंने लिखा कि 19 वर्षीय बेटी की कमाई खााने वाले मां -बाप भी इसके लिये दोषी है । फेसबुक पर किए गये इस पोस्ट को विपिन कर्णवाल ने स्वीकार भी किया.

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.