25 total views

” अल्मोड़ा 34 वां सड़क सुरक्षा माह” के तहत

एस एस पी अल्मोड़ा के निर्देशन में जनपद पुलिस का सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान जारी है । इसी क्रम में आज थाना सोमेश्वर, लमगड़ा व देघाट पुलिस ने अपने अपने क्षेत्र में जनजागरुकता कार्यक्रम आयोजित कर छात्र/छात्राओं एवं आमजन को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरुककिया ।सोमेश्वर पुलिस ने यातायात नियमों का उल्लघंन करने वालों को गुलाब का फूल देकर भविष्य में नियमों के पालन हेतु अपील की ।

देवेन्द्र पींचा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोड़ा के दिशा–निर्देशन में जनपद पुलिस द्वारा 34 वें सड़क सुरक्षा माह के अंतर्गत सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों के प्रति आमजन को जागरुक करने के उद्देश्य से लगातार विभिन्न जनजागरुकता कार्यक्रम आयोजित कर आमजन, छात्र- छात्राओं व वाहन चालकों को जागरुक किया जा रहा है।आज दिनांक 17.01.2024 को थाना लमगड़ा व सोमेश्वर पुलिस द्वारा अपने अपने थाना क्षेत्र में सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कर स्थानीय लोगों व वाहन चालकों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करते हुए बताया कि वाहन चलाते समय सभी सुरक्षा मापदंडों व यातायात नियमों का हमेशा पालन करना चाहिए। सड़क दुर्घटना से प्रत्येक दिन कई लोगों की जानें जाती है। जिसमें अधिकांश घटनाएं चालक के यातायात नियमों का पालन नहीं करने के कारण होती है। सभी को सड़क सुरक्षा हेतु यातायात नियमों के पालन हेतु प्रेरित किया गया। सोमेश्वर पुलिस द्वारा यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को गुलाब का फूल देकर भविष्य में यातायात नियमों का पालन करने की अपील की गई। सोमेश्वर पुलिस के जागरूकता अभियान की सराहना करते हुए रसयारा गांव के ग्राम प्रधान ने सभी से यातायात नियमों के पालन व नशे से दूर रहने की अपील की गई। इस दौरान मोटर वाहन अधिनियम के बारे में आवश्यक जानकारी प्रदान की गयी साथ ही वाहन चालकों को शराब पीकर वाहन न चलाने, ओवर स्पीड वाहन न चलाने व वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं करने, दोपहिया वाहन में हेलमेट पहनने, रैश ड्राइविंग नहीं करने के संबंध में जागरूक किया गया और यातायात नियमों व संकेतों/चिन्हों से सम्बन्धित जागरुकता पम्पलेट वितरित किये गये। देघाट पुलिस द्वारा जीजीआईसी स्याल्दे में सड़क सुरक्षा जागरुकता शिविर आयोजित कर छात्र/छात्राओं को यातायात नियमों की विस्तृत जानकारी प्रदान कर जागरुक किया गया । सभी से यातायात नियमों का पालन करने, बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन न चलाने, ओवर स्पीड मे न चलने, नशे की हालत में वाहन न चलाने, वाहन चलाते समय मोबाइल फोन का प्रयोग न करने तथा 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से वाहन न चलाने की अपील की गयी।

इसके उपरांत पैठाना गांव की महिलाओं व बच्चों को सड़क सुरक्षा, साइबर क्राइम, सोशल मीडिया, महिलाओं एवं बच्चों के प्रति होने वाले अपराधों एवं सुरक्षा के बारे में जागरूक कर हेल्पलाइन नंबरों की जानकारी प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.