60 total views

उत्तराखण़्ड़ मे पुष्कर धामी सरकार के अतिक्रमण विरोधी अभियान से राज्य मे हड़कम्प मचा हुवा है , । पर्वतीय क्षेत्रों भू -पारस्थतिथिकि माहौल को देखते हुवे यह सर्वविदित है कि हर घर व गांव मे सड़कों की पहुंच व सुविधाये संम्भव नही है , ऐसे मे अपनी रोजी रोटी ,व रोजगार के लिये बड़ी संख्या मे लोगों ने सड़को के किनारे सरकारी जमीनों में दुकाने तथा मकानों का निर्माण कर दिया है , जिन्हें कोर्ट के आदेश पर धामी सरकार हटा रही है , इसकी चपेट मे हजारों परिवारों के आने की आशंका है ।

इन्ही सब सन्दर्भों पर मुख्य विपक्षी दल काग्रेस की ओर से प्रतिपक्ष के नेता यशपाल आर्य ने धामी सरकार से कहा है कि वह मध्यमार्ग अपनाते हुवे लोगों को राहत प्रदान करे सरकार अध्यादेश लाकर लोगों को राहत दे सकती है ताकि लोगो का पुनर्वास हो सके ।

इस बीच उत्तराखण्ड़ के स्थानीय लोगो ने सड़कों मे मकान व दुकाने बनाकर राज्य के बाहर के लोगों को किराये मे देकर पहाड़ो मे जन जीवन पर असर डालने का कार्य भी किया है , इसे देखते हुवे राज्य आन्दोलन कारियो ने सरकार से मूल निवास , धारा 370 अथवा भू कानून लागू करने की मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया है , राज्य मे उद्योगों के नाम पर जमीने ले कर उस जमीन मे उद्योग नही लगा रहे लोगो से भी जमीनों को खाली कराने हेतु कार्यवाही करने के लिये भी जनदबाव है ।, किन्तु सर्वाधिक असमंजस मे वे लोग है जिनकी सड़कों मे दुकाने व कारोबार है ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.