38 total views

अल्मोड़ा सोबन सिंह जीना विश्व विद्यालय के भूगोल विभाग में कार्यरत डॉ पूरन चन्द्र जोशी ने स्पेन में हुई “2nd Edition of Euro-Global Climate Change Conference (EGCCC 2023)” कांफ्रेंस में अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया. उनके शोध पत्र का शीर्षक “Climate Change and its Impacts on Rural Areas of Central Himalaya: Some Experiences from Almora District, Uttarakhand, India” था. इस कांफ्रेंस में दुनिया के विभिन्न देशों रूस, यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, चीन, जापान, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, सउदी अरेबिया , स्पेन, मैक्सिको, ब्राज़ील आदि देशों के प्राध्यापकों, वैज्ञानिकों तथा सिविल सोसाईटी से जुड़े विद्वानों ने प्रतिभाग किया. यह कांफ्रेंस 21 सितम्बर से 23 सितम्बर तक आयोजित हुई. डॉ जोशी ने अपने शोध पत्र में उत्तराखण्ड के पहाड़ी क्षेत्रों में जलवायु परिवर्तन एवं समाज के विभिन्न तबकों पर इसके प्रभावों को बताया है. उन्नेहोंने इस उपलब्धि का श्रेय विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग के समस्त प्राध्यापकों, विशेषकर विभागाध्यक्ष डॉ ज्योति जोशी, को दिया है, जिन्होंने शोध के लिए आवश्यक दशाएं एवं मार्गदर्शन प्रदान किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.