Loading

अल्मोड़ा, 26 फरवरी 2024 उपजिलाधिकारी द्वाराहाट सुनील राज ने बताया कि

उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद, रामनगर (नैनीताल) द्वारा आयोजित वर्ष-2024 की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट परीक्षायें दिनांक 26 फरवरी से दिनांक 16 मार्च तक परगना द्वाराहाट के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित की जा रही है। परीक्षाओं को शान्तिपूर्वक, नकल विहीन एवं सुचारू रूप से सम्पन्न कराये जाने में कतिपय असामाजिक एवं अवांछनीय तत्वों द्वारा परिशान्ति भंग करने एवं परिशान्ति को विक्षुब्ध किये जाने की सम्भावना एवं इसके परिप्रेक्ष्य में प्रभावी निरोधात्मक उपाय तत्काल एवं अनिवार्य रूप से किये जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने बताया कि , हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षाओं में शान्ति व्यवस्था बनाये रखने हेतु तहसील द्वाराहाट एवं चौखुटिया क्षेत्रांतर्गत सभी परीक्षा केन्द्रों में दिनांक 26 फरवरी से दिनांक 16 मार्च तक दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के प्राविधानों के तहत निम्नांकित निषेधाज्ञाये जारी कर दी गई हैं –

कोई भी व्यक्ति परीक्षा केन्द्रों के 200 मीटर की परिधि के अन्दर अस्त्र-शस्त्र, आग्नेयास्त्र, धारदार हथियार, लाठी डण्डा लेकर नहीं चलेगा किन्तु यह आदेश सुरक्षा बलों, शान्ति व्यवस्था में लगे कार्मिकों, अर्द्धसैनिक बलों, पुलिस पी०ए०सी० बलों पर लागू नहीं होगा, शारीरिक रूप से विकलांग (दिव्यांग) एवं अक्षम व्यक्तियों को लाठी लेकर चलने में प्रतिबन्ध नहीं होगा। कोई भी व्यक्ति परीक्षा केन्द्रों के 200 मीटर की परिधि के अन्दर ईट, पत्थर, रोडे वाली वस्तुएं एकत्रित नहीं करेगा और न करायेगा।

कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर एवं परीक्षा केन्द्रों के 200 मीटर की परिधि के अन्दर किसी के प्रति अपमानजनक भाषा का प्रयोग नहीं करेगा और न ही ऐसे नारे लगाएगा, जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचे या शान्ति भंग होने की सम्भावना हो। 05 व उससे अधिक व्यक्ति परीक्षा केन्द्र से 200 मीटर की दूरी पर समूह बनाकर एकत्र नहीं होगें। बिना किसी अनुमति के परीक्षा के दौरान कोई भी व्यक्ति ध्वनि विस्तारक यंत्र का प्रयोग नहीं करेगा और न किसी प्रकार के भाषण देगा। परीक्षा केन्द्रों की 200 मीटर की परिधि के अन्दर किसी भी बाहरी व्यक्ति की प्रविष्टि निषिद्ध होगी, किन्तु यह आदेश परीक्षा केन्द्रों में तैनात अधिकारियों/कर्मचारियों, परीक्षार्थियों एवं शान्ति व्यवस्था में तैनात पुलिस बल पर लागू नहीं होगा।

यह आदेश तहसील द्वाराहाट एवं चौखुटिया क्षेत्रान्तर्गत सभी परीक्षा केन्द्रों में दिनांक 26 फरवरी से दिनांक 16मार्च तक प्रभावी रहेगा, बशर्ते कि इससे पूर्व इसे निरस्त न कर दिया जाये।

यदि कोई व्यक्ति इस आदेश का उल्लघन करेगा, तो उसका यह कृत्य भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा। चूंकि यह मामला विशेष परिस्थितियों का है, और इतना समय नहीं है कि सभी सम्बन्धित पर

इसकी तामीली करके उनका पक्ष सुना जा सके। अतः आदेश एक पक्षीय पारित किया जा रहा है।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.