Loading

अल्मोड़ा 15 जून, 2023 युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार, नेहरू युवा केन्द्र अल्मोड़ा एवं जिला प्रशासन, अल्मोड़ा द्वारा युवा उत्सव कार्यक्रम का आयोजन आज रैमजे इण्टर कालेज में किया गया। इस कार्यक्रम में मा0 सांसद अजय टम्टा द्वारा मुख्य अतिथि के तौर पर प्रतिभाग किया गया। जिसमें उन्होंने युवाओं को युवा उत्सव महोत्सव के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा 15 अगस्त 2022 को दिए गए भाषण अगले 25 साल की यात्रा को देश के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण करार देते हुए इस अमृत काल में पंचप्राण विषय को युवाओं में पांच प्रकार की प्रतियोगिता के साथ इस थीम का उद्देश्य आम जनमानस तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।
उन्होंने कहा कि अमृत काल के पंचप्राण विकसित भारत, गुलामी की हर सोच से मुक्ति, विरासत पर गर्व, एकता और एकजुटता एवं नागरिकों द्वारा अपने कर्तव्य का पालन करना है। इस कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं के अन्दर छुपी हुई प्रतिभा को एक पटल देकर उनके सर्वागीण विकास हेतु जागृत करना है इस कार्यक्रम में माननीय प्रधानमंत्री जी के पांच प्रण के सिद्धांत को आधार मानते हुए नेहरू युवा केंद्र संगठन द्वारा प्रत्येक जनपद में युवा उत्सव इंडिया@2047 की थीम पर आधारित इन प्रतियोगिताओं के माध्यम से युवाओं को सहभागिता से उक्त संकल्प को युवा संकल्प एवं युवा संकल्प से आम जनमानस के संकल्प में परिणत करने का कार्य किया जा रहा है युवाओं के हित के लिए उन्हें अपने फील्ड में सफलता प्राप्त करने के लिए इस कार्यक्रम के माध्यम से एक ऐसा मंच दिया जा रहा है जहां वो अपने हुनर को दिखा सके।
उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में पांच प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है जिनमें युवा काव्य लेखन (कविता) प्रतियोगिता, युवा कलाकार चित्रकला प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता, सामूहिक सांस्कृतिक प्रतियोगिता एवं मोबाइल फोटोग्राफी प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने इन प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग कर रहे प्रतिभागियों को शुभकामनायें देते हुए कहा कि हमारे पास प्रतिभा की कोई कमी नहीं है बस इसे सही मंच उपलब्ध कराना है। इस दौरान भाजपा महामंत्री धमेन्द्र बिष्ट, कैलाश गुरूरानी, अमित साह, नेहरू युवा केन्द्र के दिवाकर भाटी सहित अनेक विद्यालयों के छात्र-छात्रायें व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.