Loading


अल्मोड़ा-आज अगस्त क्रान्ति दिवस के अवसर पर उत्तराखंड स्वतंत्रता संग्राम सेनानी उत्तराधिकारी संगठन के द्वारा शोभायात्रा निकाली गयी तथा स्वतन्त्रता संग्राम स्मारिका का विमोचन भी किया गया।शोभायात्रा का शुभांरभ नंदा देवी मंदिर परिसर से किया गया। यात्रा मुख्य बाजार होते हुए हुक्का क्लब से गांधी पार्क तथा रैमजे इंटर कॉलेज तक निकाली गयी। इस दौरान गॉधी पार्क में महात्मा गॉधी की प्रतिमा पर पुष्पाजंलि अर्पित की गयी। शोभायात्रा में राज्य के सभी जनपदों से सेनानी परिवारों द्वारा प्रतिभाग किया गया। शोभा यात्रा को आकर्षक बनाने के लिए स्कूली बच्चों, छोलिया की प्रस्तुति भी की गयी।इस बार पहली बार आजादी से पहले सल्ट क्षेत्र में स्वतंत्रता सेनानियों को जोश भर देने वाला झोड़ए की प्रस्तुति रंग मंच के कलाकारों द्वारा दी गयी जिसके बोल है बात भूली जानि नि भुलनी वादा,
सन बयालिसक भारी उत्पात। कार्यक्रम में अल्मोड़ा,बागेश्वर,हल्द्वानी,देहरादून, नैनीताल,श्रीनगर,पौड़ी,गढ़वाल,रानीखेत, बेरीनाग,द्वाराहाट क्षेत्रों से भी लोग शामिल हुए। कार्यक्रम में दीप प्रज्वलित के साथ शगुनाआकर भी गाते गये।स्वतंत्रता संग्राम की स्मारिका का विमोचन प्रदेश अध्यक्ष मयंक शर्मा एवं पूर्व विधायक कैलाश शर्मा ने किया। कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद जोशी, रघुनाथ सिंह चौहान, पूर्व विधायक कैलाश शर्मा, रवि पांडे, कमलेश पांडे, ताराचंद्र शाह, पत्रकार राजीव कर्नाटक,कपिल मल्होत्रा,विनोद जोशी,दीपांशु पाण्डे,एस एस कपकोटी, शिवेन्द्र गोस्वामी, सुरेन्द्र रावत,विनोद शर्मा ,गिरीश शर्मा, बद्री दत्त पांडे, कैलाश वर्मा,गिरीश चंद जोशी, शोभा बिष्ट, चंदन सिंह परिहार, नवीन पांडे, प्रकाश हरिश्चंद्र सत्यवाली, नरेंद्र चंद्र पंत,उत्तराखंड स्वतंत्रता सेनानी एवं उत्तराधिकारी संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मयंक शर्मा ,विजय कुमार गर्ग प्रदेश कोषाध्यक्ष, प्रदेश महासचिव महिपाल सिंह रावत ,राष्ट्रीय महासचिव जितेंद्र रघुवंशी ,अवधेश पंत, सुरेंद्र बुटोला ,नवीन चंद्र, नैनीताल जनपद अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह कंडारी, सुरेंद्र प्रकाश चौहान, सचेतानंद नौटियाल,राधा तिवारी,
मनोज वर्मा,मनोज सनवाल,सेवानिवृत्ति कर्नल रवि पांडे, राधा तिवारी ,विनोद शर्मा ,पुष्कर पांडे, भारत पांडे ,किशन जोशी ,कैलाश जोशी ,बिपिन चंद्र जोशी, भगवती नेगी, शिव शंकर बोरा, कैलाश वर्मा ,हितेश तिवारी, नंदन सिंह कार्की सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।गोपाल सिंह चम्याल एंड कंपनी द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.