95 total views

दिल्ली लेकसभा मे बजट सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर संसद में जोरदार बहस हुई। बहस मे भाग लेते हुवे  मंगलवार को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी  ने सरकार को मह्गाई वेरोजगारी व देश के आल्थिक हालातों पर सियासी वार के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर अपना जवाब दिया। इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी के साथ-साथ विपक्ष पर जोरदार हमला किया प्रधानमन्त्री ने सियासी बार करते हुवे कहा कि कुछ लोगों ने आदिवासी महिला ,राष्ट्रपति का अपमान किया । बिपक्ष देश हित मे सरकार के किये गये कार्यो पर कुछ नही बोलता , ।

80करोड़ लोगों को सरकार मुफ्त राशन दे रही है  11 करोड़ किसानों को किसान निधि मोदी

देशवासियों का जो मोदी पर भरोसा है, वह इनकी समझ के दायरे से बाहर ही नहीं, समझ के दायरे से काफी ऊपर है। क्या ये झूठे आरोप लगाने वालों पर मुफ्त राशन प्राप्त करने वाले देश के 80 करोड़ लोग भरोसा करेंगे? एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड के जरिए जब गरीब को राशन मिल जाता है तो वह आपकी झूठी बातों और गलिच्छ आरोपों पर कैसे भरोसा करेगा? जब 11 करोड़ किसानों के खाते में साल में तीन बार सम्मान निधि का पैसा जमा होता हो, वह आप पर भरोसा कैसे करेगा। मुसीबत के समय मोदी उनके काम आया है, आपके आरोपों पर वह कैसे भरोसा करेगा। आपके इन आरोपों को कोटी-कोटी भारतीयों से होकर गुजरना पड़ेगा। कुछ लोग अपने लिए और अपने परिवार के लिए जी रहे हैं। मोदी तो करोड़ों देशवासियों के परिवार का सदस्य है। 140 करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद मेरा सबसे बड़ा कवच है। झूठ और गालियों के शस्त्रों से तुम इस कवच को भेद नहीं सकते।

कश्मीर मे अब हालात बेहतर – मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि जो कभी यहां बैठते थे, वह वहां जाने के बाद भी फेल हुए और देश पास होता गया। मैं भी यात्रा लेकर कश्मीर तक गया था। लाल चौक पर तिरंगा लहराने का संकल्प लिया था। तब आतंकियों ने पोस्टर लगाए थे कि देखते हैं कि किसमें हिम्मत है और किसने अपनी मां का दूध पिया है, जो यहां आकर तिरंगा लहराता है। तब मैंने कहा था- आतंकी कान खोलकर सुन लें। 26 जनवरी को ठीक 11 बजे मैं लाल चौक पहुंचूंगा, बिना सुरक्षा, बिना बुलेट प्रूफ जैकेट आऊंगा और फैसला लाल चौक पर होगा कि किसने अपनी मां का दूध पिया है? जब श्रीनगर के लाल चौक में तिरंगा फहराया, तब मीडिया के लोग सवाल करने लगे कि पहले यहां ऐसे नहीं होता था। आज वहां ऐसी शांति है कि वहां चैन से जा सकते हैं। अखबारों में खबर आई थी, जिस पर ध्यान नहीं गया होगा। लोग टीवी में चमकने की कोशिश में लगे थे। उसी समय श्रीनगर के अंदर दशकों बाद थिएटर हाउसफुल हो गए और अलगाववादी दूर-दूर तक नहीं दिख रहे थे।पीएम मोदी ने कहा कि देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए खपा दिया है।

पीएम मोदी ने लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये लोग बिना सिर-पैर की बातें करने के आदी हैं। इस कारण उन्हें ये याद नहीं रहता कि वे खुद कितने विरोधाभासी हो जाते हैं। वे आत्मचिंतन कर खुद के विरोधाभास को भी तो ठीक करें। वे 2014 के बाद से लगातार कर रहे हैं कि भारत कितना कमजोर हो रहा है। अब कह रहे हैं कि भारत इतना मजबूत हो गया है कि दूसरे देशों को धमकाकर फैसला करवा रहा है। अरे पहले यह तो तय करो भाई कि भारत कमजोर हुआ है या मजबूत हुआ है। कोई भी जीवंत संगठन या व्यवस्था होती है, जो जमीन से जुड़ी होती है तो देश उसका चिंतन करता है, उससे सीखने की कोशिश करता है, अपनी राह भी बदलता रहता है। जो अहंकार में डूबे रहते हैं, जो यह सोचते हैं कि सारा ज्ञान हम ही को है, उन्हें लगता है कि मोदी को गाली देकर हमारा रास्ता निकलेगा।

मोदी सरकार ने देश मे दो उग्योगपतियो का ही किया विकास -काग्रेस

कांग्रेस ने  सरकार  से बुधवार को सवाल किया कि प्रधानमंत्री कार्यालय  देश के कुछ ही उद्योगपतियों के हवाले कर रहा है   सवाल किया कि सरकार ने  छह हवाई अड्डों को एक अनुभवहीन अदाणी समूह को सौंपने के खिलाफ नीति आयोग की सिफारिशों को अनदेखा क्यों किया ?राहुल गांधी ने  अदाणी और पीएम मोदी पर आरोपों की बौछार कर दी कांग्रेस ने वित्त वर्ष 2023-24 के बजट को ‘दिशाहीन’ करार देते हुए कहा कि इस सरकार में सिर्फ एक उद्योगपति के अच्छे दिन आए हैं, गरीबों के लिए बुरे दिन आए हैं। बुधवार को सदन में पार्टी के उप नेता गौरव गोगोई ने वर्ष 2023-24 के केंद्रीय बजट पर सामान्य चर्चा की शुरुआत करते हुए यह भी कहा कि अडाणी समूह से जुड़े मामले की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच होनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने बेरोजगारी, महंगाई और किसानों की समस्याओं को लेकर बजट मे  उपाय नहीं सुझाए हैं। सबसे बड़ी चुनौती यह है कि देश की जनसंख्या 140 करोड़ से अधिक हो चुकी है, लेकिन बेरोजगारी दर सात प्रतिशत से अधिक है। गोगोई ने कहा कि अगर 80 करोड़ लोगों को आज मुफ्त अनाज देना पड़ रहा है तो इसका अंदाजा लगा सकते हैं कि स्थिति कितनी गंभीरहै प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी एक बार फिर से मीडिया के सामने आए। उन्होंने कहा कि पीएम ने किसी मुद्दे पर जवाब नहीं दिया। अदाणी मामले पर प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ नहीं बोला। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को कुछ नहीं बोला। लग रहा है प्रधानमंत्री मोदी सभी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

काग्रेस  पर मोदी का पलटवार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मां सशक्त होती है तो पूरा परिवार सशक्त होता है और परिवार सशक्त होता है तो पूरा समाज सशक्त होता है। माताओं-बहनों की सेवा करने का सौभाग्य मिला है। आज आदिवासियों के लिए हमने पानी की व्यवस्था की। हमने महिलाओं को धुएं से मुक्ति दिलाई। पीएम मोदी ने कहा कि हमने माता बहनों के लिए शौचालय की व्यवस्था करवाई


पीएम मोदी ने कहा कि मुझपर अनाप-शनाप कीचड़ उछालकर ही रास्ता निकलेगा। इतने साल हो गए, वे गलतफहमी पालकर ही बैठे हुए हैं। मोदी पर भरोसा अखबार की सुर्खियों से पैदा नहीं होता, टीवी पर चमकते चेहरे से पैदा नहीं होता। जीवन खपा दिया है, पल-पल खपा दिया है। पीएम मोदी के इतना कहते ही लोकसभा में मोदी-मोदी के नारे लगने लगे ।
कांग्रेस की बर्बादी पर हार्वर्ड नहीं, बड़े-बड़े विश्वविद्यालयों में अध्ययन होना तय
पीएम मोदी ने कहा कि मैंने कई बार सुना है। यहां कुछ लोगों को हार्वर्ड का बड़ा क्रेज है। कोरोनाकाल में ऐसा ही कहा गया था और कांग्रेस ने कहा था कि भारत की बर्बादी पर हार्वर्ड में केस स्टडी होगी। और फिर कल सदन में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में स्टडी की बात हुई, लेकिन बीते वर्षों में वहां एक बहुत बढ़िया और महत्वपूर्ण स्टडी हुई। उसका विषय था- द राइज एंड डिक्लाइन ऑफ इंडियाज कांग्रेस पार्टी। मुझे विश्वास है कि भविष्य में कांग्रेस की बर्बादी पर हारवर्ड नहीं, बड़े-बड़े विश्वविद्यालयों में अध्ययन होना ही होना है। और कांग्रेस को डुबाने वाले लोगों पर भी अध्ययन होने वाला है। मैं ऐसे लोगों के लिए दुष्यंत कुमार ने बहुत बढ़िया बात कही है। उन्होंने कहा है- तुम्हारे पांव के नीचे कोई जमीन नहीं, कमाल ये है कि फिर भी तुम्हें यकीन नहीं?

ईडी का धन्यवाद देना चाहिए कि ईडी ने ही इन लोगों को एक मंच पर ला दिया: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि हमने नौ साल का समय देखा है। उनके दिवालियापन को देखा है। रचनात्मक आलोचना की जगह मजबूरी में आलोचना करने की प्रवृत्ति ने ले ली है। कई लोगों ने उनके सुर में अपने सुर मिला लिए हैं- मिले-तेरा मेरा सुर। इससे तो एक मंच पर आए नहीं, लेकिन इन लोगों को ईडी का धन्यवाद देना चाहिए कि ईडी ने ही इन लोगों को एक मंच पर ला दिया है। जो काम देश के मतदाता नहीं कर पाए, वह ईडी ने कर दिया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लगभग तीन दशकों तक भारत में राजनीतिक अस्थिरता रही। आज हमारे पास एक स्थिर और निर्णायक सरकार है। निर्णायक सरकार हमेशा देश के हित में निर्णय लेने का साहस रखती है…पिछले 9 साल में 90,000 स्टार्टअप सामने आए हैं। स्टार्टअप्स में हम दुनिया में तीसरे नंबर पर हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उस समय की UPA सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि हम सभी को याद है उस समय कॉमनवेल्थ गेम्स में किस तरह से घोटाला हुआ था। उन्होंने कहा कि 2G से लेकर हेलिकॉप्टर घोटाले किस तरह से सामने आए थे। तब कोयला घोटाला भी चर्चा में आ गया था। देश पर कितने ही आतंकी हमले हुए। 2008 के आतंकी हमलों को कोई भूल नहीं सका। उनमें आंख में आंख मिलाकर हमले करने का सामर्थ्य नहीं था। आतंकियों के हौसले बुलंद होते गए। 10 साल तक खून बहता रहा। 2014 के पहले का दशक लॉस्ट डिकेड के रूप में जाना चाहिए। यह दशक इंडियाज डिकेड कहलाएगा।
04:21 PM, 08-FEB-2023
कुछ निराशावादी लोग इस देश की प्रगति को स्वीकार ही नहीं कर पा रहे
पीएम मोदी ने लोकसभा में कहा कि भारत में नई संभावनाएं हैं। कइयों को यह बात समझने में देर लग जाएगी लेकिन भारत सप्लाई चेन के मामले में आगे बढ़ गया है। भारत मैन्यूफैक्चरिंग हब के रूप में विकसित हो रहा है। दुनिया भारत की समृद्धि में अपनी समृद्धि देख रही है। निराशा में डूबे हुए कुछ लोग इस देश की प्रगति को स्वीकार ही नहीं कर पा रहे। 140 करोड़ देशवासियों के पुरुषार्थ और परिश्रम उपलब्धि उन्हें नजर नहीं आ रही। पिछले नौ वर्ष में भारत में 90 हजार स्टार्टअप आए हैं। आज स्टार्टअप के मामले में हम दुनिया में तीसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। बहुत बड़ा स्टार्टअप ईकोसिस्टम देश की टियर-3 शहरों तक पहुंच चुका है। इतने कम समय में और कोरोना के विकट कालखंड में 108 यूनिकॉर्न बने। एक यूनिकॉर्न यानी छह-सात हजार करोड़ से ज्यादा का मूल्य। आज भारत दुनिया में मोबाइल बनाने में दूसरा बड़ा देश बन गया है। घरेलू विमान यात्रियों के मामले में हम दुनिया में तीसरे नंबर पर हैं।

भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया गया: पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं एक और उदाहरण देता हूं। इस कोरोनाकाल में भारत निर्मित वैक्सीन तैयार हुई। भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया गया। अपने करोड़ों नागरिकों को मुफ्त वैक्सीन के टीके लगाए गए। 150 से ज्यादा देशों को इस संकट के समय में हमने जहां जरूरत थी, वहां दवाई और वैक्सीन पहुंचाई। आज विश्व के कई देश भारत के विषय में यह बात गौरव से विश्व मंच पर कहते हैं, भारत का गौरवगान करते हैं। तीसरा पहलू यह है कि आज भारत का डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर मजबूत है। इसने ताकत दिखाई है। पूरा विश्व इसका अध्ययन कर रहा है। बाली में जी-20 में डिजिटल इंडिया की वाहवाही हो रही थी। कोरोनाकाल में दुनिया के बड़े-बड़े देश अपने नागरिकों को आर्थिक मदद पहुंचाना चाहते थे। यह देश है जो एक सेकंड एक हिस्से में हजारों करोड़ रुपये ट्रांसफर कर देता है। एक समय था, जब देश छोटी तकनीक के लिए भी तरसता था। आज देश आगे बढ़ रहा है

पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया की हर विश्वसनीयता संस्था, सारे विशेषज्ञ जो वैश्विक प्रवाहों का गहराई से अध्ययन करते हैं, जो भविष्य का अच्छे से अनुमान भी लगा सकते हैं, उन सभी को आज भारत के प्रति बहुत आशा है, विश्वास है और बहुत मात्रा में उमंग भी है। आखिर यह सब क्यों है, ऐसे ही तो नहीं है। आज पूरी दुनिया भारत को इस प्रकार की नजरों से क्यों देख रही है, इसका जवाब है भारत में आई स्थिरता, वैश्विक साख में और भारत में बनती नई संभावनाओं में।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनौतियों के बिना जीवन नहीं होता है, चुनौतियां तो आती हैं, लेकिन चुनौतियों से ज्यादा सामर्थ्यवान है 140 करोड़ देशवासियों का जज्बा। उनका सामर्थ्य चुनौतियों से भी ज्यादा मजबूत, बड़ा है। अनेक देशों में अस्थिरता का माहौल है। भीषण महंगाई है। खानेपीने का संकट है। हमारे अड़ोस-पड़ोस में भी जिस प्रकार के हालात बने हुए हैं, ऐसी स्थिति में कौन हिंदुस्तानी इस बात पर गर्व नहीं करेगा कि ऐसे समय में भी देश दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बना हुआ है। आज पूरे विश्व में भारत को लेकर पॉजिटिविटी है, एक आशा है, भरोसा है। यह भी खुशी की बात है कि आज भारत को विश्व के समृद्ध देशों के समूह जी-20 की अध्यक्षता का अवसर मिला है। यह देश के लिए गर्व की बात है। 140 करोड़ देशवासियों के लिए गौरव की बात है। लेकिन पहले मुझे नहीं लगता था, लेकिन अभी लग रहा है कि इससे भी कुछ लोगों को दुख हो रहा है। वे आत्मनिरीक्षण करें कि वे कौन लोग हैं, जिन्हें इसका भी दुख हो रहा है।

महामारी से जिस तरह भारत उबरा इससे पूरा देश आत्मविश्वास से भर रहा
पीएम मोदी ने कहा कि किसी ने उनके अभिभषाण की बातों का विरोध नहीं किया, इस बात की खुशी है। सदन में हंसी-मजाक, टीका-टिप्पणी, नोकझोंक होती रहती है, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि आज राष्ट्र के रूप में गौरवपूर्ण अवसर हमारे सामने है। जो राष्ट्रपति जी के पूरे भाषण में है, वो पूरे 140 करोड़ देशवासियों के लिए हैं। सौ साल में एक बार आई भयंकर महामारी, दूसरी तरफ युद्ध की स्थिति और बंटा हुआ विश्व, इस स्थिति में भी और इस संकट के माहौल में भी देश जिस प्रकार से संभला है, इससे पूरा देश आत्मविश्वास से भर रहा
भारत आज समस्याओं के समाधान का माध्यम बन रहा: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति जी ने अभिभाषण में कहा था कि जो भारत कभी अपनी अधिकांश समस्याओं के समाधान के लिए दूसरों पर निर्भर था, वही आज दुनिया की समस्याओं के समाधान का माध्यम बन रहा है। न्होंने अभिभाषण में यह भी कहा था कि जिन मूल सुविधाओं के लिए देश की बड़ी आबादी ने दशकों तक इंतजार किया, वह इन वर्षों में उसे मिली है। बड़े-बड़े घोटालों, सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार की जिन समस्याओं से देश मुक्ति चाहता था, वह मुक्ति देश को अब मिल रही है। पॉलिसी पैरेलिसिस की चर्चा से बाहर आकर देश और देश की पहचान तेज की विकास और दूरगामी दृष्टि से लिए गए फैसलों से हो रही है।

राष्ट्रपति जी का अभिभाषण का हो रहा था, तब कुछ लोग कन्नी भी काट गए: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि जब राष्ट्रपति जी का अभिभाषण का हो रहा था, तब कुछ लोग कन्नी भी काट गए। एक बड़े नेता तो राष्ट्रपति जी का अपमान भी कर चुके हैं। जनजातीय समुदाय के प्रति नफरत भी दिखा चुके हैं। जब इस प्रकार की बातें टीवी पर कही गईं, तो भीतर पड़ा हुआ नफरत भाव था, वह सच बाहर आकर ही रह गया। …ठीक है, बाद में चिट्ठी लिखकर बचने की कोशिश की गई। जब राष्ट्रपति जी के अभिभाषण पर चर्चा सुन रहा था, तब लगा कि बहुत सी बातों को मौन रहकर स्वीकार किया गया है। राष्ट्रपति जी के भाषण पर किसी को एतराज नहीं है या आलोचना नहीं है।
04:03 PM, 08-FEB-2023
राहुल गांधी पर पीएम मोदी का शायराना वार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत में ही राहुल गांधी का नाम लिए बिना शायराना अंदाज में हमला बोला। उन्होंने कहा कि मैं देख रहा था कल कि कुछ लोगों के भाषण के बाद उनके समर्थक उछल रहे थे। वे खुश होकर कहने लगे कि ये हुई ना बात। शायद नींद भी अच्छी आई होगी। शायद आज उठ भी नहीं पाए होंगे। ऐसे लोगों के लिए बहुत अच्छे ढंग से कहा गया है- ये कह कहकर हम दिल को बहला रहे हैं, वो अब चल चुके हैं, वो अब आ रहे हैं
राष्ट्रपति ने आदिवासी समाज का गौरव बढ़ाया है: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति ने आदिवासी समाज का गौरव बढ़ाया है, लेकिन आज आजादी के 75 साल के बाद समाज में जो गौरव को बढ़ाया है, उनका आत्मविश्वास बढ़ाया है, उसके लिए आभारी हूं। उनके भाषण में संकल्प से सिद्धि तक का खाका खींचा गया। एक प्रकार से देश को प्रेरणा भी दी गई। यहां सभी ने इस चर्चा में हिस्सा लिया। सभी ने अपनी प्रवृत्ति और समझ के हिसाब बात की। इससे उनके इरादे भी प्रकट हुए। देश की जनता ने सब कुछ देखा।
पीएम मोदी के बोले- राष्ट्रपति का अभिभाषण दूरदर्शी और ऐतिहासिक
लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद करता हूं और यह मेरा सौभाग्य रहा है कि पहले भी कई बार उनके अभिभाषण पर धन्यवाद करने का अवसर मिला है। लेकिन इस बार धन्यावद के साथ उनका अभिनन्दन भी करना चाहता हूं। राष्ट्रपति का अभिभाषण दूरदर्शी और ऐतिहासिक है। उनकी उपस्थिति प्रेरणादायक है।

प्रधानमन्त्री के भाषण   पर वाकआउट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से पहले लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ जिसपर स्पीकर ओम बिरला ने विपक्षी नेताओं को चेतावनी भी दी। इसके बाद कई विपक्षी नेता वॉकआउट कर गये


राहुल को घेरने की साजिशें नाकाम -काग्रेस
कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि राहुल के भाषण की चर्चा पूरे देश में हो रही है। राहुल के भाषण को पूरे देश ने सुना। उन्होंने कहा कि राहुल का तीर सही निशाने पर लगा। अधीर रंजन ने कहा कि आप चीन से डरते हैं। चीनी अतिक्रमण पर आप चर्चा क्यों नहीं करते हैं। लद्दाख में सुरक्षा व्यवस्था कमजोर है। चीन ने भारतीय सेना को गश्त करने से रोका। अधीर रंजन ने आगे से कहा कि पहले हमने कभी राष्ट्रपति की जाति या धर्म के बारे में नहीं सुना लेकिन पहली बार पूरे देश में यह बताया जा रहा है कि भाजपा ने एक आदिवासी राष्ट्रपति बनाया है। इसे राजनीतिक मुद्दा बना दिया गया है… आपने राहुल गांधी को ‘पप्पू’ बनाने की कोशिश की लेकिन उन्होंने आपको पप्पू बना दिया।

02:35 PM, 08-FEB-2023
राहुल के दावों को बताया निराधार
उन्होंने कहा कि यह कहा गया कि प्रधानमंत्री विदेश जाते हैं तो एक उद्योगपति उनके साथ जाते हैं। 2008 में अडाणी ने मलेशिया में कोयले की खदान खरीदी, अदाणी ने 2010 में ऑस्ट्रेलिया में एक खदान खरीदी, 2008 और 2010 में किसकी सरकार थी? 2011 में अडाणी ने आस्ट्रेलिया में निवेश किया। क्या हम मानें कि मनमोहन सिंह विदेश गए तो अडाणी को खदानें मिलीं?

02:34 PM, 08-FEB-2023
राहुल ‘कमीशन’ बंद होने से परेशान: रविशंकर प्रसाद
भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ राहुल गांधी की टिप्पणियों को लेकर बुधवार को लोकसभा में कांग्रेस नेता पर पलटवार किया। उन्होंने आरोप लगाया कि उस व्यक्ति ने प्रधानमंत्री पर आरोप मढ़े हैं, जो खुद भ्रष्टाचार के मामले पर जमानत पर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने सदन को गुमराह किया और वह हताश हैं क्योंकि मोदी सरकार में ‘डील और कमीशन’ बंद हो चुका है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने सवाल किया कि क्या सदन में बोलते समय सारी संवैधानिक मर्यादाओं को तार-तार कर दिया जाएगा? इस संसद को विचार करना पड़ेगा कि क्या कुछ भी बोला जाएगा? राहुल गांधी ने श्रीलंका को लेकर जो हवाला दिया, वहां के राष्ट्रपति ने इससे इनकार किया था। संबंधित पदाधिकारी ने कहा कि उसने भावनाओं में बहकर बोल दिया था। राहुल गांधी ने सदन को गुमराह किया है।

02:05 PM, 08-FEB-2023
कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के बयान को रिकॉर्ड से हटा दिया गया है। लोकसभा में लोकतंत्र का हत्या की गई है। सूत्रों की मानें तो तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा और भाजपा सांसद निशिकांत दूबे के बयानों के कुछ अंश भी रिकॉर्ड से हटा दिए गए हैं।

12:55 PM, 08-FEB-2023
राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि हम चाहते हैं कि संयुक्त संसदीय समिति (JPC) बिठाई जाए और इस (अडानी मामले) की जांच हो। इस पर पीयूष गोयल ने कहा कि संयुक्त संसदीय समिति (JPC) तब बैठती है जब आरोप सिद्ध हो जाए। जब सरकार पर आरोप लगता है तब संयुक्त संसदीय समिति बिठाई जाती है किसी निजी व्यक्ति के मुद्दे पर नहीं।

12:33 PM, 08-FEB-2023
राज्सभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने बताया कि एक व्यक्ति जिसकी संपत्ति ढ़ाई साल में 13 गुना बढ़ गई। 2014 में 50,000 करोड़ की थी वह 2019 में एक लाख करोड़ की हो गई। अचानक ऐसा क्या जादू हुआ कि 12 लाख करोड़ बढ़ गई। हिंडनबर्ग की रिपोर्ट तो है ही जिसे वे (BJP) नहीं मानते हैं।

राज्यसभा में पीयूष गोयल ने पलटवार करते हुए कहा कि वे विदेश रिपोर्टों (हिंडनबर्ग रिपोर्ट) पर बातें कर रहे हैं, यह तो कांग्रेस का तारीका है। मैं स्पष्ट कहता हूं कि इनके खुद के नेता जिनके कहने के बगैर ये कुछ नहीं करते हैं उनकी संपत्ति ही देखें कि 2014 में इनके नेता की कितनी संपत्ति थी और आज कितनी है।

12:23 PM, 08-FEB-2023
लोकसभा में भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी के बयान पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता ने सदन को गुमराह किया। आज जब देश अर्थव्यवस्था के मार्ग पर तेजी से आगे बढ़ रहा है तो उन्हें परेशानी क्यों हो रही है?

12:07 PM, 08-FEB-2023
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देंगे। लोकसभा में प्रधानमंत्री के आज दोपहर करीब 3 बजे आने की संभावना है।

धर्मिक आस्था को राजनीति का आधार ना बनाये नेता – मल्लिकार्जुन खड़गे
कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खरगे ने दलितों को मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि कुछ सांसद सिर्फ धर्म की बात करते हैं। धर्म-जाति के नाम पर नफरत की बात करना ठीक नहीं है। दलितों का सियासी इस्तेमाल करना ठीक नहीं है। कई सासंद-मंत्री सिर्फ हिंदू मुस्लिम करते हैं, क्या बात करने के लिए कोई और मुद्दा नहीं है। दूसरी तरफ कोई अनुसूचित जाति के लोग मंदिर जाते हैं तो उन्हें मारते हैं, उनकी सुनवाई नहीं होती है। अनुसूचित जाति को तो हम हिंदू समझते हैं ना तब उन्हें मंदिर जाने से क्यों रोकते हैं अगर समझते हैं तो उन्हें बराबरी का स्थान क्यों नहीं देते। कई मंत्री दिखावे के लिए उनके घर जाकर खाना खाते हैं और तस्वीर खींचवा कर बताते हैं कि हमने उनके घर खाना खाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.