Loading

रूद्रपुर सिंगल यूज प्लाष्टिक का उपयोग करने पर हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है इसके बाद भी लोग चोरी छुपे प्लास्टिक का उपयोग कर रहे है यही नही कई फैक्ट्रिरों मे चोरी छुपे प्लास्टिक वैगों का उत्पादन होने की सूचना मिलने पर प्रशासन और नगर निगम की टीम ने सिडकुल समेत कई अनंय फैक्टरी में छापा मारा तो सिंगल यूज प्लास्टिक और उससे तैयार प्लास्टिक बैग पाये गये टीम द्वारा कई फैक्टरी को सील करने के साथ ही एक फैक्टरी स्वामी पर पांच लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जिलाधिकारी ने इस कार्रवाई को अंजाम देने वाली टीम को 10 हजार का इनाम देने की घोषणा की है। सोमवार की शाम एसडीएम प्रत्यूष सिंह, आर एम सिडकुल मनीष बिष्ट की अगुवाई में नगर निगम और प्रशासन की टीम ने सिडकुल सेक्टर सात स्थानों मे छापा मारा जिसमें जय दुर्गा पैकर्स फैक्टरी में छापा मारा। जहां आधा दर्जन मशीनों पर 15 श्रमिक सिंगल यूज प्लास्टिक बैग और दूसरे पैकेजिंग उत्पाद बना रहे थे। फैक्टरी के भीतर जगह-जगह पर सिंगल यूज प्लास्टिक और उससे तैयार कैरी बैग के ढेर लगे हुए थे। सूचना पर सीडीओ विशाल मिश्रा भी मौके पर पहुंचे और प्रदूषण बोर्ड की टीम को भी मौके पर बुलाया गया। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी नरेश गोस्वामी ने बताया कि फैक्टरी से करीब पांच टन प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक और उससे तैयार कैरी बैग बरामद हुए हैं। प्रतिबंधित सामग्री को नगर निगम ने जब्त कर लिया है और फैक्टरी को प्रशासन ने सील कर दिया है। फैक्टरी के पास नहीं है लाइसेंस
रुद्रपुर। प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी नरेश गोस्वामी ने बताया कि फैक्टरी में वेस्ट प्लास्टिक को रिसाइकिल कर दाना तैयार किया जाता था। इसके बाद दाने की सप्लाई दूसरी जगहों पर होती थी लेकिन हाईकोर्ट की ओर से सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। बताया कि वर्तमान में फैक्टरी के पास कोई लाइसेंस नहीं है। इस फैक्टरी को एक्ट के तहत बंद करने के लिए मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी जा रही है।
साइकिल से की जाती थी कैरी बैग की डिलीवरी
प्रशासन की ओर से मारे गए छापे के दौरान पता चला कि गुपचुप ढंग से सिंगल यूज प्लास्टिक से तैयार कैरी बैगों को बड़े वाहन की बजाय साइकिलों से दुकानों तक पहुंचाया जाता था। साइकिल पर माल ले जाते समय किसी को शक भी नहीं होता था। खासतौर पर रात के समय यह काम किया जाता था। श्रमिकों को भी प्लास्टिक का सामान बनाने के बारे में किसी को नहीं बताने की हिदायत दी गई थी।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.