32 total views

अल्मोड़ा , भिकियासैण से अपने सामान्य प्रसव के लिये आ रही एक गर्भवती महिला को , जब रानीखेत के गोविन्द सिंह महरा राजकीय चिकित्सालय मे भर्ती नही किया गया तो वह सुशीला तिवारी मेडिकल कालेज हल्द्वानी के लिये रिफर कर दी गई । इस महिला को ज्योलीकोट के पास तीब्र प्रसव पीड़ा हुई तो चालक को वाहन रोकने के लिये मजबूर होना पड़ा , इस महिला ने कार मे ही बच्चे को जम्म दिया ।
यह बहुत ही बिडम्बना है , कि एक ओर जहां गांव – गाव मे आशा वर्कर व आंगनबाड़ी केन्द्र धात्री मातृत्व का लेखा जोखा रखती है । चिकित्सक प्रसव की तिथि भी तय कर देते है ऐसे में एक सामान्य प्रसव के लिये माताओं का इस प्रकार तडफना किसी आपदा से कम नही है । इन दिनो देश भर मे विकसित भारत संकल्प यात्रा चल रही है , ऐसे मे भी यदि गर्भवती माताओं का मुद्दा नेपत्थ मे है तो यह कैसी विकसित भारत समकल्प यात्रा है , सरकारी पक्ष तथा राजनैतिक पक्ष की इॊ गंम्भीर मुद्दे पर खामोशी पर लोग सवाल उठा रहे है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.