Loading

अल्मोड़ा 15 फरवरी, 2024 – नवीन कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी विनीत तोमर ने जनपद में मातृ-मृत्यु दर व शिशु-मृत्यु दर एवं पी0सी0पी0एन0डी0टी0 जिला सलाहाकार समिति की बैठक चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ की। बैठक में जिलाधिकारी ने विगत माहों में हुई मातृ-मृत्यु व शिशु-मृत्यु पर मुख्य चिकित्साधिकारी ने मृत्यु के कारणों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद में मातृ-मृत्यु दर व शिशु-मृत्यु दर को नियंत्रित करने के लिये ठोस प्रयास किये जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन गृभवती महिलाओं की प्रसव की तिथि जब नजदीक हो तो उन्हें एएनएम के माध्यम से सभी प्रकार की सुविधा वाले चिकित्सालय में भर्ती कराया जाय जिससे जानमाल के खतरे को कम किया जा सके। उन्होंने निर्देश दिये कि समय-समय पर एएनएम व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से गृभवती महिलाओं को खान-पान व स्वास्थ्य परीक्षण आदि की जानकारी दी जाय ताकि वें एक स्वस्थ्य बच्चें को जन्म दे सके।
जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय कि गृभवती महिला का प्रसव चिकित्सालय में ही कराया जाय इसके लिये लोगों को जागरूक किया जाय। उन्होंने कहा कि कई मातृ-मुत्यु एवं शिशु-मृत्यु के जॉच कारणों में घर पर ही प्रसव कराया जाना पाया जाता है जिस कारण माता व बच्चें को स्वास्थ्य सुविधा समय से उपलब्ध नही हो पाती है। बैठक में पी0सी0पी0एन0डी0टी0 जिला सलाहाकार समिति के अन्तर्गत वि.मो.जोशी, महिला चिकित्सालय अल्मोड़ा व रूद्राक्ष क्लिनिक, नगर पालिका अल्मोड़ा द्वारा पी0सी0पी0एन0डी0टी0 एक्ट के तहत रजिस्टेशन नवीनीकरण किये जाने की अनुमति जिलाधिकारी द्वारा दी गयी।
इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आर0सी0पंत, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 दीपकांर डेनियल, डा0 योगेश पुरोहित,जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास पीताम्बर प्रसाद सहित स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.