27 total views

अल्मोड़ा कांग्रेस जिला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह भोज के नेतृत्व में आज कांग्रेसजनों ने जिलाधिकारी द्वारा महामहिम राज्यपाल को अंकिता भंडारी प्रकरण में अंकिता के माता पिता द्वारा वीआईपी के नाम के खुलासे में बीजेपी संगठन महामंत्री नाम आने को गंभीरता से लेकर उक्त व्यक्ति को शीघ्र जांच के दायरे में लेने की मांग की..

राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन में जिला अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह भोज एवं समस्त कांग्रेसजनो ने बीजेपी सरकार पर अंकिता केस में पैरवी कर रहे अधिवक्ताओं को भी प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए महामहिम राज्यपाल से त्वरित संज्ञान लेने की अपील की..

काग्रेस जिला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह भोज ने कहा कि अंकिता हत्याकांड में रिजॉर्ट से अहम सबूत मिटाने में भाजपा की स्थानीय विधायक और एसडीएम की भूमिका रही है, जिस पर धामी सरकार चुप्पी साधे है.. सरकार निरंतर इस मामले को दबाने में जुटी हुई है.. परंतु कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन चलाकर दोषियों और उनको बचाने वाली बीजेपी सरकार के खिलाफ सड़कों पर संघर्ष करती रहेगी.।

ज्ञापन देने वालों में जिला अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह भोज, नगर अध्यक्ष श्री तारा चंद्र जोशी, महिला जिला अध्यक्ष श्रीमती राधा बिष्ट जी, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री केवल सती, जिला उपाध्यक्ष मनोज सनवाल, बार एसोसिएशन उपाध्यक्ष कविंद्र पंत, नगर महिला अध्यक्ष दीपा साह, महिला जिला महामंत्री जया जोशी, तारा तिवारी, एन डी पांडे, जिला प्रवक्ता निर्मल रावत, शरद चंद्र साह, अरविंद रौतेला, बिशन सिंह बिष्ट, चंदन सिंह भोज, विक्रम सिंह बिष्ट, रमेश लटवाल, ललित पंत, परितोष जोशी, एडवोकेट कुंदन भंडारी, एडवोकेट जमन सिंह बिष्ट, एडवोकेट विनोद फुलारा , एडवोकेट हिमांशु मेहता, एडवोकेट धनंजय साह , एडवोकेट मोहन सिंह देवली, एडवोकेट रुचि कुटौला, रोहन कुमार, राजेन्द्र बोरा, पुष्पा पांडे, निर्मला कांडपाल, तारा भंडारी, रोहित सत्याल, प्रदीप बिष्ट, पवन मेहरा, ललित सतवाल, अमित बिष्ट मुन्ना, नितिन रावत, गौरव सतवाल, संदीप तड़ागी, वीरेंद्र बंगारी आदि मौजूद रहे..

Leave a Reply

Your email address will not be published.