79 total views


अल्मोड़ा 12 मई, 2023 जिला स्तरीय पुनरीक्षण समिति (डीएलआरसी) की त्रैमासिक बैठक शुक्रवार को जिला कार्यालय के सभागार में जिलाधिकारी वन्दना की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में वित्तीय वर्ष 2023-24 की वार्षिक ऋण योजना, ऋण जमा अनुपात, राज्य प्रयोजित विभिन्न विभागीय योजना की प्रगति, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के सम्बन्ध में योजनावार समीक्षा की गयी।
समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने सभी बैंकर्स को निर्देश दिये कि आगामी वित्तीय वर्ष 2023-24 हेतु सभी बैंक अभी से वार्षिक कार्य योजना को बनाते समय जिले का ऋण जमा अनुपात कम से कम 40 प्रतिशत लक्ष्य रखे जाने हेतु तैयार करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष में प्रत्येक योजना में शत-प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति हो इस हेतु माह जून में सभी बैंक सम्बन्धित विभागों के साथ मिलकर विभिन्न योजनान्तर्गत आवेदकों से आवेदन प्राप्त कर लें ताकि प्राप्त आवेदनों को चयन समिति के माध्यम से स्वीकृत कराते हुए शत-प्रतिशत आवेदनों को स्वीकृत कर बैंक से ऋण वितरित कर उन्हें योजनाओं का लाभ पहुॅचायें। जिलाधिकारी ने कहा कि बैंक प्रायोजित जो भी योजनायें जनपद में संचालित है उन योजनाओं में सम्बन्धित विभाग वित्तीय वर्ष हेतु लक्ष्य निर्धारित कर अधिक से अधिक लोगों को बैंक के माध्यम से सरकारी योजनाओं का दोगुना लाभ प्रदान करें।
बैठक में समीक्षा के दौरान वर्तमान वित्तीय वर्ष में विभिन्न बैंकों में किसान क्रेडिट कार्ड से सम्बन्धित लम्बित आवेदनों पर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने इस सम्बन्ध में कृषि व पशु पालन विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिये कि किसान क्रेडिट कार्ड बनाने हेतु लक्ष्य निर्धारित किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में बैंकिग सेवाओं का लाभ के साथ ही सरकार की योजनाओं का लाभ बैंकों के माध्यम से लाभार्थी को पहुॅचाये जाने हेतु विकासखण्ड स्तरीय पुनरीक्षण समिति (बीएलबीसी) को सक्रिय करते हुए निर्धारित समय पर बैठकों का आयोजन करने हेतु रोस्टर तैयार किया जाय। जिलाधिकारी ने बैंकर्स से कहा कि वार्षिक कार्य योजना तैयार करते समय ग्रामीण क्षेत्रों में लगाये जाने वाले वित्तीय साक्षरता एवं ऋण वितरण सम्बन्धी सभी बैंक रोस्टर तैयार कर किया जाय। बैठक में जनपद में नाबार्ड के अन्तर्गत किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि नाबार्ड के अर्न्तगत जो भी कार्य किये रहे है उनका लाभ अधिक से अधिक लोगों को मिले इसका सभी बैंक विशेष ध्यान रखे।
बैठक में जिलाधिकारी ने जिले में अधिकाधिक रूप से स्वरोजगारपरक योजनाओं के प्रोत्साहन के साथ ही बेरोजगारों को रोजगार प्रदान किए जाने हेतु राज्य प्रायोजित कार्यक्रमों/योजनाओं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली पर्यटन स्वरोजगार योजना, पं0 दीनदयाल होमस्टे योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, स्पेशल कपोनेंट प्लान समेत अन्य योजनाओं में दुगना लक्ष्य निर्धारित करने के निर्देश दिये।
बैठक में जिला अग्रणी बैंक प्रबन्धक डी0एस0 गर्ब्याल, भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारी दिग्विजय सिंह सनवाल, परियोजना निदेशक चन्द्रा फर्ल्याल, डीडीएम नबार्ड गिरीश पंत, लीड बैंक अधिकारी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व बैंकर्स उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.