41 total views

बागेश्वर जनपद के तहसील कांडा के खंतोली गांव की एक पूर्व फौजी की पत्नी ने चीड़ के पेड़ पर फांदी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। यह महिला एक सम्पन्न परिवार से थी घर मे किसी प्रकार की कोई सार्वजनिक उलझन नही थी ना ही वह परेशान दिखाई देती थी । पर लोगों के मन मे यह सवाल है कि इस महिला मे आत्महत्या क्यों की , ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंचीपुलिस ने शव को नीचे उतारा पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया पता चला है कि मृतका ने सुसाइड नोट में अपने बेटे से माफी भी मांगी है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार खंतोली गांव की 50 साल की बंसती देवी पत्नी पूर्व सैनिक मोहन सिंह धामी शनिवार को शनि मंदिर में पूजा करने गई थी। पूजा करने के बाद वह काफी देर तक घर नहीं पहुंची। तीन बजे बाद ग्रामीणों ने उसकी खोजबीन शुरू की। गांव के के ध्मयोड़ा तोक के पास पानी के नौले के पास चीड़ के पेड़ पर उसका शव लटका मिला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव नीचे उतारा। उसके बाद पंचनामा भरकर शव पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया। रविवार को पुलिस ने शव का पोस्टमार्डम कराकर उसे परिजनों को सौप दिया थानाध्यक्ष खुशवंत सिंह ने बताया महिला के पास से एक सुसाइड नोट भी प्राप्त हुआ हैं। जिसमे लड़के से मुझे माफ कर देना ऐसा कुछ लिखा हुआ है। प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का लग रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। असली मौत का कारण पीएम रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट हो जाएगा। मृतका की दो बेटियां व एक बेटा है। सभी की शादी हो चुकी है। वह गांव में अकेले ही रहती थी। बेटा भी फौज में कमांडो है। धर्म से जुड़ी व मिलनसार बसंती के मौत से भी लोग स्तब्ध हैं। उनका कहना है कि संपन्न परिवार की महिला ने ऐसा क्यों किया, यह बात किसी के समझ में नहीं आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.