Loading

अल्मोड़ा गोलू सन्देश यात्रा के लिये अपनी धरोहर संस्था के तत्वाधान मे , आज मिलम होटल मे एक बैठक का आयोजन हुवा , इस बैठक मे संस्था के अध्यक्ष विजय भट्ट ने कहा कि भाषा हमारी पहचान है पर भावना को हम अपने कामों से ब्यक्त कर सकते है संस्था भाषा के क्षेत्र मे काम कर रही है पर संस्कृति के क्षेत्र मे हमने हपेला पर्व से अपनी संस्था को जोड़ते हुवे पौधारोपण से आरम्भ किया आज यह संस्था उत्तराखण्ड़ की संस्कृति वाद्य मूर्ति , लोकगायन के क्षेत्र मे काम कर रहे है , हमें अपनी संस्था को राजनीति से मुक्त करने की कोशिस की है । उन्होंने कहा कि सामान्यत: कोई भी ब्यक्ति दोहरा चरित्रो मे फसा रहता है , पर लोक संस्कृति मे सोच सामाजिक व आध्यात्मिक होनी चाहिये , इस बार यह यात्रा कुमाऊ गढवाल के 44स्थानों में जायेगी, उन्होंने बताया कि इस संस्था के विविध स्थानों मे कार्यक्रम आयोजित हुवे है इस बार 22दिन की यात्रा होगी ।गोल्ज्यू रथ मे इस बार दो डगरिये व पुरोहितों समेत पाँच लोग रहेंगे । लिंग रूप मे ही गोल्ज्यू निराजित होंगे । उत्तराखण्ड़ की लोक संस्कृति के लिये गोल्ज्यू संन्देश के सम्बन्ध में मनमोहन चौधरी जी ने आधार बक्तब्य दिया , इस संबन्ध मे संयोजक मनोहर सिह नेगी मे कहा कि गोल्ज्यू सन्देश यात्रा तत्वाधान भविष्य के कार्यक्रम तय करने के लिये यह बैठक आयोजित की जा रही है । इस बार गोल्ज्यू बैठक मे राधा तिवारी ने कहा कि बिलुप्त हो रही संस्कृति को संजोने के लिये संस्था काम कर रही है ,बैठक मे मन्जू जोशी , गंगा पाण्ड़े विन्दु भण्ड़ारी , पूर्व पालिकाध्यक्ष शोभा जोशी , मन्जू नेगी , नीमा भैसोड़ा ,गीता मेहरा , वि वा वि मन्दिर गोदावरी चतुर्वेदी , भगवती बिष्ट रेखा आर्या , हिमांक्षी , के वी पाण्डे , डा .जे सी, दुर्गापाल ,मनोज सनवाल , विनोद तिवारी , कमल बिष्ट , , अरविन्द जोशी , सुरेन्दर सिंह बनकोटी ,आदि उपस्थित थे ।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.