Loading

गैरसैण जम्मू कश्मीर में उग्रवादियों से लोहा लेते हुए उत्तराखंड के जांबाज जवान रुचिर रावत आज पूर्व सैनिक सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हो गए उनके अन्तिम संस्कार मे जनसैलाब उमड़ा । शहीद के सम्मान में जय जय कार के नारे लगाए पुष्प वर्षा की गई उन्हें सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

लान्सनायक रुचिर रावत का पार्थिव शरीर विशेष विमान से देहरादून लाया गया जहां मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तथा कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने शहीद को पुष्प चक्र अर्पित किए उसके बाद शहीद का शव उनके पैतृक गांव गैरसैण के पास के पास कुनिगाड़ गैरसैण लाया गया उनके पिता राजेंद्र सिंह रावत का बेटे के शव को देख कर रो रो कर बुरा हाल हुए उन्होंने कहा कि उनका बेटा देश के काम आ गया। उनके साथ आये सैन्य.अधिकारियो ने कहा कि लांसनायक रुचिर रावत व उनके चार अन्य साथियों ने उग्रवादियो से जमकर लोहा लिया ,उन्हें व सेना को इस जाबाज पर गर्व है

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कृति रावत ने देश के लिए बलिदान दिया है हमारे सरकार सैनिकों का विशेष सम्मान करती है गणेश जोशी ने कहा किस रहित के एक परिजन को योगिता अनुसार सरकारी नौकरी दी जाएगी तथा उनके क्षेत्र में किसी सरकारी संस्थान का नाम शहीद के नाम पर रखा जाएगा

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.