Loading

अल्मोड़ा लोकसभा चुनाव के पहले चरण के बाद ही उत्तराखण्ड़ मे निकाय चुनाव भी हो सकते है उत्तराखण्ड़ उच्च न्यायालय मे राज्य सरकार ने निकाय.चुनावो को कराने की लिखित सहमति दी है । ज्यों -ज्यों लोकसभा चुनाव सामने आ रहे है त्यों त्यों निकाय चुनावों मे भी लोगों की दिलचस्बी बढ रही है । उत्तराखण्ड़ मे स्थानीय निकायों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है , निकायों मे राज्य सरकार द्वारा प्रशासक बिठाये गये है । सूत्र कहते है कि आरम्भ में राज्य सरकार को भय था , कि स्थानीय निकाय चुनाव लोकसभा चुनावों के साथ कराने से पार्टी को नुकसान हो सकता है किन्तु अब पार्टी मान रही है कि उसे स्थानीय निकाय चुनावों मे भी लाभ हो सकता है ,बी जे पी मान रही है कि उसे मोदी मैजिक का लाभ मिलेगा जबकि बिपक्षी पार्टी काग्रेस का मानना है कि ऐसा कुछ भी नही होंगा लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़े जाते है जबकि निकाय चुनाव स्थानीय मुद्दों पर लड़े जाते है विपक्षी पार्टियों का मानना है कि इससे उन्हें लाभ मिलेगा

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.