23 total views

अल्मोड़ा , बहुत ही कम समय मे अपने शिक्षक के कार्य के साथ ही  खेती , व विविध प्रकार  की गतिविधियों मे अपना सहयोग ु्रदान करने वाली ललिता काण्ड़पाल अल्मोड़ा के आजीविका महोत्सव मे उन 25 महिलाओं मे  शामिल रही जिनके साथ  सी एम धामी ने सीधे संवाद किया , यो तो अल्मोड़ा मे बहुत ले महिला समुह काम कर रहे है कुछ महिला  समुहों का  काम सराहनीय है।,जिसमे कुछ महिला समुह मसरूम का काम कर रही है तो कुछ हस्तशिल्प ऐपड़ मे भी अच्छा काम कर रही है पर ललिता मे कुछ नया सोचा , उसमे परम्परागत तरह से रोली बनाई जिसे सी एम ने  खूब सराहा , उत्तराखण्ड़ मे रोली का बहुत बड़ा कारोबार है यहा विश्व प्रसिद्ध देवालय है , जहा प्रतिदिन  बड़ी    मात्रा मे इसकी जरूरत है । पर शुद्ध रोली नही मिलने से  लोग कैमिकल युक्त रोली का उपयोग करते है गायिका , शिक्षिका  किसान ,आदि सभी कार्यो मे  दक्ष ललिता चितई मे यह कार्य करती है तथा महिला हाट संस्था से भी जुड़ी है उनका कहना है क् वह इस कार्य को आगे बढायेंगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.