Loading

अल्मोड़ा, 23 मई 2024मिशन अमृत सरोवर के तहत मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा कोण्डे के निर्देशन में ताड़ीखेत में निर्मित अत्याधुनिक अमृत सरोवर – जल संरक्षण और ग्रामीण विकास को गति प्रदान कर रहा है ।
मिशन अमृत सरोवर के अंतर्गत, ग्राम पंचायत उणी के गैरा गांव में तालेश्वर में एक अत्याधुनिक अमृत सरोवर का निर्माण सफलतापूर्वक पूरा हुआ है।
इस अत्याधुनिक सरोवर की आंतरिक माप 47.90 मीटर लंबाई, 22.15 मीटर चौड़ाई और 1.20 मीटर ऊंचाई है, जो इसे जल संरक्षण के लिए एक आदर्श ढांचा बनाता है।
इसकी जल संग्रहण क्षमता 1,273,182 लीटर है, जो आसपास के क्षेत्रों में जल सुरक्षा को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
इस सरोवर के निर्माण से गैरा, नौघर, तेलगांव, तल्ला सीमा सहित आसपास के गांवों में भूजल स्तर में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है, जिससे क्षेत्र के लोगों को लाभ हुआ है।
कुजगढ़ नदी के जलग्रहण क्षेत्र में स्थित होने के कारण, यह सरोवर नदी के प्राकृतिक जल प्रवाह को बढ़ाने में भी महत्वपूर्ण योगदान देगा, जिससे नदी के किनारे के पारिस्थितिकी तंत्र को लाभ होगा।
मत्स्य पालन को बढ़ावा देने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए, 18,000 ग्रास कार्प और कॉमन कार्प मछली के उन्नत बीज सरोवर में छोड़े गए हैं।
इस परियोजना ने 3,240 मानव-दिवस पैदा किए हैं, जिससे ग्रामीण समुदायों को रोजगार के अवसर प्राप्त हुए हैं और उनकी आय में वृद्धि हुई है।
मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा कोण्डे ने कहा, अमृत सरोवर न केवल जल संकट का एक स्थायी समाधान प्रदान करता है, बल्कि ग्रामीणों को सशक्त बनाने और उनकी आजीविका के साधनों में विविधता लाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह सरकारी योजनाओं की शक्ति का एक प्रमाण है जो ग्रामीण विकास को गति प्रदान कर सकती हैं।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.