80 total views

अल्मोड़ा के एम ओ यू स्टेशन अल्मोड़ा मे मन्दिर का पुस्ता तोड़ दिये जाने से भक्तों मे भारी आक्रोश पैदा हो गया , प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद तथा पुस्ते के नवनिर्माण के आस्वासन के बाद ही मामला शान्त हुवा , इन दिनों अल्मोड़ा के एम ओ यू लि. के पूर्व भवन को तोड़कर उसमे पार्किंग निर्माण करने का कार्य होना प्रस्तावित है इस संबन्ध मे के एम ओ यू ने ना तो अपने किरायेदारों को मोटिस दिया ना ही मम्दिर कमेटी को मोटिस दिया , ऐसे मे आज के एम ओ यू स्टेशन के पास प्रवन्धक की उपस्तिथि में जब बुल्डोजर चलाया गया तो मन्दिर का पुस्ता गिर गया । जिससे भक्तों मे आक्रोश फैल गया मन्दिर का पुस्ता पुन: बनाये जाने के आस्वासन के बाद ही आक्रोश शान्त हुवा ।।

लोगों ने निर्माण एजैंसी पर आरोप लगाया कि इसमे स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती महाराज की कुटिया को क्षतिग्रस्त किया। (100वर्ष से अधिक पुरानी कुटिया को तोड़ना गलत है सूचना के अनुसार अल्मोडा़ शहर के के0एम0 ओ0 यू0 स्टेशन के समीप स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती महाराज की कुटिया जो लगभग 100 वर्ष से अधिक पुरानी है को जिला प्रशासन की निर्माणदायी संस्था ने जे0 सी0 बी0 मशीन चला कर तोड़ दिया। इस कार्यवाही से कुटिया प्रबंध समिति व सभी भक्त जनों में आक्रोश है इस घटना की निंदा की है । इधर उप जिलाधिकारीसदर अल्मोडा़ गोपाल सिंह चौहान व तहसीलदार सदर कुलदीप पाँडे ने कहा की जिला प्रशासन ने ऐसे कोई निर्देश कार्यदायी संस्था को नहीं दिये गये है, कुटिया को ठीक करा दिया जायेगा। इस घटना को ले कुटिया में अति आवश्यक बैठक की गयी, तथा इस असामाजिक कृत्य की निंदा की गयी , तथा मांग की गई कि इस अनैतिकता व धार्मिक आस्था के विरूद्ध की गयी कार्यवाही की उच्च स्तरीय जाँच कर दोषियों को दंडित किया जाय, साथ ही तय किया गय की यदि जिला प्रशासन ने इस जन हित के मुद्दे पर त्वरित कार्यवाही नहीं की गयी, तथा कुटिया ठीक कर पूर्ववत नहीं की गयी तो जन आंदोलन को नहीं रोका जा सकेगा। कुटिया में अनेक भक्तजन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.