Loading

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने गढ़वाल को लेकर दिए गए बयान पर माफी मांग ली है। उन्होंने कहा कि उनके एक शब्द की वजह से अंकिता हत्याकांड के मुख्य मुद्दे से लोगों का ध्यान हटा, इसके लिए वो प्रायश्चित के तौर पर एक दिन उपवास करेंगे।
शुक्रवार को कांग्रेस भवन में आयोजित पत्रकार वार्ता में माहरा ने कहा कि भाजपा की जो महिला नेता, अंकिता हत्याकांड में चुप रहीं वो अब उनके बयान को तोड़मरोड़ कर पेश कर रही हैं। भाजपा के इन नेताओं को पूर्व में दिए गए तीरथ सिंह रावत, त्रिवेंद्र रावत, बंशीधर भगत के बयानों और पूर्व भाजपा महामंत्री संगठन पर लगे आरोपों पर भी बयान देने चाहिए।
माहरा ने लोगों से अपील की है कि उनका पूरा वीडियो देखकर ही अपना मन बनाए, फिर भी किसी की भावनाओं को ढेस पहुंची है तो वो इसके लिए माफी मांगते हैं। माहरा ने कहा कि उनके मात्र एक शब्द से अंकिता की लड़ाई कमजोर हुई है, इसलिए प्रायश्चित के तौर पर वो जल्द ही एक दिन का उपवास करेंगे।
कांग्रेस पदाधिकारियों द्वारा ही वीडियो वायरल किए जाने के सवाल पर माहरा ने कहा कि, जिन लोगों ने 2022 में मुस्लिम यूनिवर्सिटी का झूठ फैलाया था, उन तीन दोस्तों में से एक ने इस बार भी यह वीडियो वायरल किया है। तब पार्टी ने ऐसे लोगों पर एक्शन लिया होता तो आज यह स्थिति न होती।
उन्हेांने कहा कि वीडियो वायरल किए जाने को लेकर अनुशासन समिति के पास 400 स्क्रीन शॉट और कई पदाधिकारियों के शिकायती पत्र आए हैं। इस पर जल्द अनुशासन समिति निर्णय लेगी। माहरा ने बताया कि बीते दो साल में उत्तरकाशी जिले में अनुसूचित जाति समाज की चार नाबालिग बेटियों के साथ बलात्कार हुआ है, लेकिन सरकार उन्हें मुआवजा तक नहीं दे पाई है। इस मौके पर एससी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष दर्शनलाल, मुख्य प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसौनी, महामंत्री नवीन जोशी, प्रवक्ता शीशपाल बिष्ट, मीडिया सलाहकार अमरजीत सिंह शामिल हुए।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.