38 total views

अल्मोड़ा -28-अक्टूबर आज यहां जारी प्रेस विज्ञप्ति में राज्य आंदोलनकारी ब्रह्मानंद डालाकोटी ने कहा है कि राज्य सरकार ने उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों की लंबित मांगों पर 9नवंबर राज्य स्थापना दिवस से पूर्व पर कोई सकारात्मक घोषणा नहीं की तो राज्य आंदोलनकारी राज्य स्थापना दिवस के सरकारी कार्यक्रमों में नहीं जायेंगे।राज्य स्थापना दिवस पर भी सरकार मौन ही रही तो राज्य आंदोलनकारी सरकार के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूकने को मजबूर हो जायेंगे। विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं घोषणा कर रहे हैं सभी आंदोलनकारियों को समान पैंशन दी जायेगी पर दे नहीं रहे यही नहीं अल्मोड़ा जनपद की अनेक तहसीलों में इस बित्तीय वर्ष की पैंशन अभी तक नहीं दी गयी है । मुख्यमंत्री जी ने 2वर्ष पूर्व आश्रितों को पैंशन की घोषणा की जो आज तक नहीं मिली, क्षैतिज आरक्षण के मामले को सरकार किसी न किसी बहाने टालती जा रही है। सरकार द्वारा जो स्वास्थ्य, परिवहन, आश्रितों को निशुल्क शिक्षा जैसी कुछ सुविधाएं दी हैं वे आधी अधूरी हैं जिससे उनका पूरा लाभ राज्य आंदोलनकारियों को नहीं मिल पा रहा है, चिन्हीकरण से बंचित आंदोलनकारियों के चिन्हीकरण का मामला भी सरकार राज्य बनने के 23वर्ष बाद भी हल नहीं कर पा रही है। राज्य आंदोलनकारियों द्वारा भेजे जा रहे पत्रों पर भी शासन/प्रशासन स्तर से कार्यवाही नहीं हो रही है जिससे राज्य आंदोलनकारी स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहे हैं ।डालाकोटी ने कहा कि इस संबंध में अल्मोड़ा जनपद के राज्य आंदोलनकारियों की शीघ्र बैठक बुलाई जायेगी और आन्दोलन की रणनीति तय की जायेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.