Loading

रुद्रप्रयाग ऑल वेदर रोड की स्पीड़ की चपेट मे आने से होनहार गोल्ड मैडलिस्ट एक बालिका की जीवन लीला समाप्त हो गई । देल प्रयाग की नन्दिनी कोठियाल विश्वनाथ बस की चपेट मे आ गई जिससे नन्दिनी की मौत हो गई ।

चार धाम यात्रा के विकास में ऑल वेदर रोड को एक महत्वपूर्ण यातायात साधन के रूप में माना जा रहा है ,किंतु ऑल वेदर रोड अब हादसों की सड़क बन गई है, जबसे सड़क का चौड़ीकरण हुआ है ,तब से रोड में ही स्पीड बेकाबू हो गई है। इसकी चपेट में आने से कई लोगों की जीवन लीला समाप्त हो गई है पिछले कुछ वर्षों में इस सड़क की बेतहाशा बढ़ रहे स्पीड के कारण कई वाहन दुर्घटनाओं के शिकार हो गए तो कई पैदल यात्रियों का जीवन भी संकट में पड़ गया है लोगों का कहना है कि ऑल वेदर रोड का यह मतलब यह नहीं कि इसमें लाशे ढोई जाए बल्कि यह इसलिये बनाई ताकि यात्री सुगमता से आपने गंतव्य स्थान को जा सके किंतु इस मार्ग में चलने वाले चालक अपनी स्पीड को बेकाबू स्तर पर ले जा रहे हैं जिससे कई लोगों का जीवन संकट में पड़ गया है लोगों ने मांग की है कि जिम्मेदार अघिरारी स्पीड़ पर ब्रेक लगाये रुद्रप्रयाग की नंदनी भी इसी स्पीड की चपेट में आ गई ,इस प्रकार एक होनहार बालिका को हमेशा के लिए खो दिया गया यदि भीड़भाड़ वाले स्थानों में स्पीड पर बैन नही लगाया गया तो हादसे यूं ही बढ़ते चले जाएंगे और इसका खामियाजा यात्रियों व तथा पैदल चलने वालों को भी पड़ेगा।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.