Loading


अल्मोड़ा हंस फाउंडेशन के द्वारा उत्तराखंड के गढ़वाल ओर कुमाऊ मण्डल के दस विकास खंडो के एक हजार गाव मे वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना का संचालन किया जा रहा है वनाग्नि रोकथाम हेतु जन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन वृहद स्तर पर किया जा रहा है जिसके अंतर्गत मेरा गांव मेरा वन अभियान के तहत पंडित गोवर्धन शर्मा इंटर कालेज ज्योली के छात्र छात्राओं के साथ निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया प्रतियोगिता मे स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया तथा संदेश दिया की वनो की आग से होने वाले दुष्प्रभावों, जलवायु परिवर्तन ओर प्रकृति को संरक्षित करने को अपने लेख के माध्यम से प्रदर्शित किया
हंस फाउंडेशन के परियोजना सामन्वयक राजनीश रावत के द्वारा परियोजना के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए वनो के महत्व बताया और वनो के संरक्षण मे सहयोग करने को कहा
प्रधानाचार्य गणेश सिंह रावत ने बताया की वन हमारे लिए जीवनदाय है इसलिए वन की रक्षा हमारे जीवन की प्राथमिकता होनी चाहिए अन्य लोगों को भी जागरूक करने को कहा ।
लेखन प्रतियोगिता के निर्णायक सोनू पाण्डेय, पिंकी पूजा रानी ,हर्षिता पाण्डेय ने विचार रखे कार्यक्रम मे वन विभाग के वन बीट अधिकारी हर्षिता पाण्डेय हंस फाउंडेशन के चंद्रेश पंत, दीपक ओली, शंकर, करन आदि उपस्थित रहे

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.