16 total views

जनपद मे चौदहवा बित्त व मनरेगा का कार्य आन लाईन होने के बाद अब ग्रामीण विकास की योदनाओं मे कार्य प्रगति धीमी हो गई है , यद्यपि राज्य सरकार द्वारा मनरेगा के कार्यों की निगरानी के लिये लोकपाल नियुक्त किये है ,। किन्कु लोगों को अपने अधिकारो के लिये बनाये गये लोकपाल की जानकारी नही है , मनरेगा मजदूरों को सौ दिन रोजगार देने का प्रविधान है , । किन्तु ग्राम प्रधानों व सम्बन्धित अधिकारियों की रुचि ना होने से , मजदूरों के हित प्रभावित हो रहे है। मनरेगा की कार्य प्रणाली प्रगति ना होने से असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों को जो लाभ मिल सकते थे मनरेगा के असंगठित क्षेत्र के मजदूर सरकार की इन योजनाओं का लाभ नही ले पा रहे है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.