Loading

पौड़ी12 मई गैरसैण स्थाई राजधानी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले समिति के संयोजक हर्षवर्धन सिंह बिष्ट एवं उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी के केन्द्रीय कार्यकारिणी सदस्य जगदीश ममगाईं राजधानी मुद्दे पर जनजागरण हेतु भ्रमण कार्यक्रम के दौरान पौड़ी पहुँच कर आगमन का उद्देश्य तथा राज्य की राजधानी की स्थापना पर्वतीय क्षेत्र गैरसैण में स्थापित होने की आवश्यकता के संबंध में अपनी बात रखते हुए नागरिक हस्तक्षेप मंच के सदस्यों के साथ बैठक कर विचार-विमर्ष किया।
इस अवसर पर उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी के महासचिव नरेश नौडि़याल ने पार्टी का स्टैंड स्पस्ट करते हुए उत्तराखण्ड राज्य आंदोलन की भावना के अनुरूप गैरसैण को स्थाई राजधानी घोषित करने के साथ ही उच्च न्यायालय, सचिवालय सहित तमाम विभागीय मुख्यालय, निदेशालयों को गैरसैण और आसपास के क्षेत्रों में स्थापित करने पर राज्य सरकार से गंभीरता पूर्वक विचार करने की मांग की। एडवोकेट विनोद चमोली ने राजधानी आंदोलन के सफल संचालन हेतु प्रदेश स्तर पर संयोजक मंडल के गठन का सुझाव दिया गया और कहा कि इसका विस्तार जनपद/तहसील/नगर एवं विकास खंड स्तर पर भी किए जाने की आवश्यकता है।
वक्ताओं ने इस संबंध में चरणबद्ध तरीके से आंदोलन का सुझाव दिया इस पर समिति के संयोजक हर्षवर्धन सिंह बिष्ट ने सुझाव दिया कि इस हेतु प्रदेश में व्यापक जनसमर्थन जुटाने के लिए आरंभिक चरण में हस्ताक्षर अभियान चलाया जाए।
द्वितीय चरण में जनप्रतिनिधियों का घेराव कर राजधानी मुद्दे पर उनका मन्तव्य स्पष्ट करने की मांग की जाय।
तीसरे चरण में विरोध स्वरूप राज्य भर में कुछ मिनटों का ब्लैकआउट कर अगले दिन से अपने-अपने घरों, प्रतिष्ठानों तथा वाहनों पर काले झंडे लगाकर लक्ष्य प्राप्ति तक आंदोलन करने तथा आवश्यकता पड़ने पर राज्य में निर्वाचन का सम्पूर्ण बहिष्कार करने का भी निर्णय लिया जा सकता है।
बैठक में नागरिक हस्तक्षेप मंच के विक्रम सिंह राणा तथा जसपाल सिंह रावत को पौड़ी से संयोजक मंडल के लिए नामित किया गया।
निर्णय लिया गया इस संबंध में शीघ्र एक बड़ी बैठक कर आगामी आंदोलन का कार्यक्रम घोषित किया जाएगा।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.