77 total views

अल्मोड़ा -21 सितंबर, 2023 ऐतिहासिक एवं पौराणिक मां नंदा देवी मेला-2023 अल्मोड़ा के प्रथम दिवस 20 सितंबर, 2023 बुधवार रात्रि लगभग 8:00 बजे से मेले का दीप प्रज्वलित कर विधिवत शुभारंभ हो गया है।मेला समिति के मीडिया प्रभारी (मेला) अमरनाथ सिंह नेगी द्वारा अवगत कराया गया कि सायंकाल निर्धारित कार्यक्रम अनुसार चंद वंशज के युवराज नरेंद्र चंद सिंह वह उनके परिवार जनों द्वारा राजपुरोहित एवं मुख्य पुजारी के दिशा -निर्देशों अनुसार मां नंदा देवी की पूजा अर्चना की गई।तदोपरांत देर सायं 8:00 बजे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अल्मोड़ा बारामंडल के मा०विधायक मनोज तिवारी, विशिष्ट अतिथि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष/ पूर्व विधायक रघुनाथ सिंह चौहान, पूर्व विधायक कैलाश शर्मा द्वारा मुख्य पुजारी तारा दत्त जोशी, पुजारी प्रमोद पाठक के मंत्रोचारण के साथ संयुक्त रूप से दीप जलाकर मेले का उद्घाटन किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता मेला समिति के अध्यक्ष मनोज वर्मा द्वारा किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि,विशिष्ट अतिथि एवं अन्य माननीय अतिथियों को समिति के पदाधिकारी और सदस्यों द्वारा प्रतीक चिन्ह भैटकर सम्मानित किया गया। मनोज वर्मा ने अपने संबोधन में मंच पर आसीन सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। उनके द्वारा नंदा देवी मंदिर छत के जिणोद्धार से संबंधित जानकारी देते हुए मा० मुख्य अतिथि से विधायक निधि से धनराशि की घोषणा किए जाने हेतु निवेदन किया गया। इस पर मुख्य अतिथि मनोज तिवारी द्वारा कहा गया कि समिति प्रस्ताव बनाकर दे जेसी भी स्थिति होगी मैं हर संभव प्रयास करूंगा।वही शारदा पब्लिक स्कूल के छात्राओं ने मनमोहक वंदना प्रस्तुति से समा बांध दिया। और उसी के साथ नटराज जुंबा फिटनेस अल्मोड़ा के हर्ष टम्टा एवं नीरज सिंह बिष्ट की जोड़ी ने प्रस्तुति देकर धमाल मचा दिया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा अपने संबोधन में मां नंदा देवी मेले को कुमाऊनी संस्कृति का ध्वजवाहक बताया। विशिष्ट अतिथि कैलाश शर्मा द्वारा नंदा देवी मेले को लेकर समिति की ओर से किए गए भव्य आयोजन की सराहना की गई। विशिष्ट अतिथि रघुनाथ सिंह चौहान द्वारा कहां गया की आस्था के प्रतीक मां नंदा सबको आशीर्वाद देवे वह यह मेला निर्विघ्न संपन्न हो

।सांस्कृतिक लोक कला समिति रामनगर की टीम के निर्देशक चंदन सिंह नेगी के निर्देशन में राधा कृष्ण की मनमोहक झांकी एवं नृत्य प्रस्तुत किया गया इसके गीतों के बोल -कान्हा बरसाने की छोरी।
आज राधा को श्याम याद आ गया।आज बिरज में होली रे रसिया—- की प्रस्तुति से श्रद्धालुओं को झूमने को मजबूर कर दिया। इसी के साथ टीम के कलाकारों द्वारा कुमाऊनी झोड़ा ——–रे मासी को फूलों और ओ भिना कस के जानू द्वाराहटा के साथ गढ़वाली नृत्य गीत—–ओ टुवा बेलड़ा की प्रस्तुति से कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए।इस अवसर पर समिति के मुख्य संयोजक मनोज सनवाल, मुख्य सांस्कृतिक संयोजक तारा दत्त जोशी, चंद्र वंशज युवराज नरेंद्र चंद राज सिंह, राजा भैया, सलाहकार दिनेश गोयल किशन गूररानी , मंदिर व्यवस्थापक मुन्ना वर्मा, अनूप शाह, एल के पंत, मेला सहसंयोजक हरीश बिष्ट, अर्जुन बिष्ट (चीमा), राजकुमार बिष्ट, दिनेश मठपाल, सह संयोजक सांस्कृतिक परितोष जोशी, कुलदीप मेर, अमित शाह मोनू , महेंद्र बिष्ट, संतोष मिश्रा , आशुतोष भट्ट संयोजक मूर्ति निर्माण रवि गोयल, संजय शाह (गंजू) मीडिया प्रभारी मेला अमरनाथ सिंह नेगी, राजेंद्र बिष्ट,जगत तिवारी व समिति के जीवन नाथ वर्मा जीवन गुप्ता तथा भाजपा के जिला अध्यक्ष रमेश बहुगुणा, महामंत्री धर्मेंद्र बिष्ट ,नगर अध्यक्ष अमित शाह, पूर्व नगर अध्यक्ष कैलाश गुरुरानी, महिला जिला अध्यक्ष लीला बोरा, अजय वर्मा , हिमांशु मेहता तथा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष भूपेंद्र भोज, प्रवक्ता निर्मल रावत, ब्लॉक अध्यक्ष ताकुला विक्रम सिंह बिष्ट, पूर्व नगर अध्यक्ष पूरन रौतेला, महिला जिला अध्यक्ष राधा बिष्ट सहित सभासद नगर पालिका परिषद विजय पांडे, मनोज जोशी, दीपक वर्मा, मेला खेल संयोजक हरीश कनवाल एवं गोविंद मेहरा, गीता मेहरा, गंगा पांडे, मीना भैसोड़ा, चंदन नेनवाल, लकी वर्मा, मारुति शाह, ईशान शाह हिमाल शर्मा, संचित वर्मा, कमल बिष्ट आदि आदि मौजूद रहे।वही दूसरी ओर एडम्स गर्ल्स इंटर कॉलेज के प्रांगण में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का विधिवत शुभारंभ सायं 7:30 बजे मुख्य अतिथि प्रधानाचार्य नर्सिंग कॉलेज, आशा गंगोला एवं विशिष्ट अतिथि पूर्णिमा कुंवर द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर उनके द्वारा अपने संबोधन में कहा गया कि नंदा देवी मेले को कुमाऊनी संस्कृति में संरक्षित करने का अभिन्न मार्ग है। उन्होंने कहा कि मेले हमारी संस्कृति के वाहक है इनका संरक्षण करना बेहद जरूरी है।मेला सहसंयोजक प्रभारी एडम्स गर्ल्स इंटर कॉलेज संजय शाह ( रिकखू) द्वारा कार्यक्रम की अध्यक्षता की गई। शाह द्वारा अपने संबोधन में अतिथियों एवं श्रद्धालुओ/ दर्शकों का आभार व्यक्त किया। इसी क्रम में समिति द्वारा अतिथियों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित कियासमिति द्वारा ऑडिशन में चयनित जूनियर एवं सीनियर वर्ग के चयनित कलाकारों द्वारा कुमाऊनी एवं हिंदी गायन में एक से एक बढ़कर बेहतरीन प्रस्तुतियां मंच पर दी गईइस अवसर पर समिति के पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.