Loading

अल्मोड़ा: सोच संस्था द्वारा अल्मोड़ा जिले के हवालबाग ब्लॉक के खूंट ग्राम में स्थित गोविंद बल्लभ पंत राजकीय इंटर कॉलेज खूंट में मासिक धर्म विषय पर जागरूकता और सैनिटरी पैड वितरण कैंप का आयोजन किया गया। इस कैंप में सोच संस्था के साथ अंतर्राष्ट्रीय संस्था कोचेज एक्रॉस कॉन्टिनेंट्स (CAC) ने भी प्रतिभाग किया और बच्चों को खेल गतिविधियों के माध्यम से मासिक धर्म विषय के प्रति जागरूक करने में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की और CAC ने भविष्य में भी सोच संस्था के साथ संयुक्त रूप से खेल गतिविधियों के माध्यम से छात्र छात्राओं, महिलाओं और समाज के सभी वर्गों को पीरियड्स विषय पर जागरूक करने हेतु संकल्प लिया।

कार्यक्रम का संचालन सोच संस्था के सचिव मयंक पंत द्वारा किया गया। कार्यक्रम में सोच संस्था के वॉलंटियर हिमांशी और प्रियंका ने पीसीओडी, पीसीओएस, सर्वाइकल कैंसर और सैनिटरी पैड्स के इस्तेमाल को लेकर छात्र छात्राओं और जानकारी दी।

संस्था के अध्यक्ष आशीष ने अपने जीवन से जुड़ी जानकारियों को छात्रों के मध्य साझा किया और सामाजिक भ्रांतियों को लेकर छात्रों से वार्ता की।

सोच संस्था के संस्थापक सदस्य और मार्गदर्शक प्रो. नीरज तिवारी ने कहा कि सोच संस्था पिछले काफी समय से स्कूलों, गावों और कॉलेज के छात्रों के मध्य में कार्य कर रहा है। उन्होंने सोच के सभी सदस्यों का निरंतर जमीनी स्तर पर कार्य करने को लेकर धन्यवाद व्यक्त किया और कहा की कुछ युवा जिस प्रकार से समाज को बदलने की इस मुहिम में लगातार कार्य कर रहे हैं यह प्रशंसनीय है।

CAC की कंट्री हेड सरस्वती नेगी ने छात्र छात्राओं को खेल गतिविधियों के माध्यम से मासिक धर्म विषय पर जागरूक किया और उन्होंने अपने अनुभवों को सभी छात्र छात्राओं के साथ साझा किया और कहा की सोच संस्था पीरियड्स विषय पर काफी अच्छा कार्य कर रही है और हम सभी को इस कार्य में उनकी सहायता करनी चाहिए और उनका साथ देना चाहिए। तत्पश्चात उन्होंने सभी छात्र छात्राओं के साथ खेल मैदान में कई खेल खेले और खेलों के माध्यम से विभिन्न जानकारियों दी।

इस अवसर पर कार्यक्रम में विद्यालय के प्राचार्य अरविंद बिष्ट और सभी शिक्षक उपस्थित रहे। CAC की ओर से कंट्री हेड सरस्वती नेगी ने प्रतिभाग किया। सोच संस्था की ओर से प्रो. नीरज तिवारी, मयंक पंत, आशीष पंत, राहुल जोशी, हिमांशी, प्रियंका, दीपाली आदि मौजूद रहे।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.