Loading

तुर्की में   सोमवार सुबह 04:17 बजे भूकंप आये विनासकारी  भू -कम्प ने भारी तबाही मचाई समाचार एजेन्सियों के अनुसार  भूकम्प का केन्द्र गहराई मे  जमीन से 17.9 किलोमीटर अंदर  गाजियांटेप के पास था.।यह सीरिया बॉर्डर से 90 किमी दूर स्थित है। तुर्की ही नही सीरिया के कई शहरों में भी भूकंप के तेज झटके महसूस किए  तुर्की में 100 साल में सबसे तीव्रता वाला भूकंप बताया जा रहा है. भू गर्भीय सर्वेक्षण के मुताबिक, भूकंप के बाद 77 झटके लगे. इनमें से एक झटका 7.5 तीव्रता का था. जबकि तीन झटके 6.0 तीव्रता से अधिक थे.


भारत से एनडीआरएफ की दूसरी टीम तुर्की रवाना मानवीय सहायता भेजने वाला अग्रणी देश बना भारत

प्रधानमंन्त्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर भारत ने तुर्की और सीरिया के  भूकम्प पीड़ितों के लिये  मानवीय सहायता भेजी है  भारत की ओर से उपकरणों के साथ 100 जवानों का दल जिसमे  एन डी आर एफ  का प्रशिक्षित दल   शामिल है तुर्की रवाना हो चुका है । कहा जा रहा है कि   तुर्की के लोगों ने सोमवार को तबाही का जो मंजर देखा, वो दशकों  तक लोगों के  जेहन में रहेगा  यहां आए भूकंप से भयानक तबाही मची है ईमारतें जमीदोज है  लोग दबे हुवे है  तुर्की व सीरियां  में  अब तक 4890  से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं समाचार ऐजेन्सियो के अनुसार भूकम्प की तीव्रता 7.8 थी। भूकंप के चलते कंपन इतना तेज था कि हजारों इमारतें ताश के पत्तों की तरह भरभराकर गिर गईं।तुर्की प्रशासन का कहना है कि अभी तक 5606 इमारतें गिर चुकी हैं. तबाही का यही मंजर सीरिया में भी देखने को मिला है. भारतीय एयरफोर्स का C-17 विमान रेस्क्यू टीमों और राहत साम्रगी लेकर तुर्की के लिए रवाना हो गया है. तुर्की के पोर्ट पर भीषण आग लगी है ।
तुर्की के इसकेंदेरून पोर्ट पर सोमवार को भूकंप के बाद भीषण आग लग गई थी. मंगलवार को भी इस आग पर काबू नहीं पाया जा सका है. तुर्की में फिर भूकंप के झटके आ रहे है ।  यहां  मंगलवार को भी  दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. भूकंप के  झटके आये झटकों की तीव्रता 5.4 थी. इससे पहले मंगलवार सुबह 5,9 तीव्रता का भूकंप आया था।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.