Loading

मौसम बदलने के साथ ही एक बार फिर से पिछले वर्षों की तरह कैरोना व एनिफ्लूएंजा वाईरस मानव जीवन मे एटैक कर रहा है ।  विशेषज्ञो का कहना है कि  सामान्यत: लोग सर्दी जुखाम खासी , आदि बिमारियों को कोरोना मानकर कोरोना की जांच करा रहे है, जबकि  इन दिनों  दोनों ही वाईरसों की जांच कराना जरूरी  है एक ही सेम्पल में दोनो जांचे संम्भव है ।  और दोनो  लक्षण मिलने पर दोनो ईलाज जरूरी है ।

इसके साथ ही गर्मी बढने के साथ  ही एक तीसरा वाईरस भी सक्रिय है  जिसे  राईनो वाईरस कहा जा रहा है सक्रिय है । यह वाईरस  इसमे बिना कोई ठंण्ड़ा पेय लिये ही  सर्दी जुखाम के ही गले पर अटैक हो  रहा है । इसमे गला बैठ जाना  इसका प्रमुख लक्षण है ।   चिकित्सालयों मे इस प्रकार के लक्षण  वाले रोगियों की संख्या बढ गई है । कौरोना रोगियों की संख्या मे भी बृद्धि हो रही है । बचाव ही एकमात्र उपाय  है ।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.