Loading


अल्मोड़ा यो तो दन्या दशाब्दियों से अपने उच्च गौरव के लिये प्रख्यात है किन्तु एक बार फिर दन्या की बेटी ने दन्या का नाम रोशन किया है ।

दन्या अल्मोड़ा की बेटी हाल निवासी पीलीकोठी हल्द्वानी की बेटी दीक्षिता ने आई ए एस ( IAS) भारतीय प्रशासनिक सेवा ( UPSC) परीक्षा में 58 वीं रैंक हासिल की है ग्राम दन्या अल्मोड़ा की दीक्षिता ने विद्यालयी शिक्षा क्रमश अल्मोड़ा और हल्द्वानी में ली , इनके पिता श्री आई के जोशी फार्मिशिष्ट और इनकी माता श्रीमती दीपा जोशी एक शिक्षिका है । दिक्षिता की उपलब्धि किसी गौरव से कम नही है उनकी इस उपलब्धि पर माता पिता ही नही दन्यां कस्वे के लोग भी प्रसन्न है ।

ये तो दन्या से देश विदेश मे कई ख्याति प्राप्त नामचीन लोग है पर दिक्षिता नई पीढी केलिये एक उदाहरण व प्रेरणा है दिक्षिता इस उपलब्धि के लिये माता पिता की गाईड लाईन व अध्यापको का योगदान को महत्वपूर्ण मानती है ।।

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा में इस बार भी उत्तराखंड के होनहारों ने नाम रोशन किया है। अब तक प्राप्त सूचना के अनुसार परीक्षा में राज्य के जिन युवाओं के सफल होने की जानकारी सामने आई है। इनकी संख्या मे बृद्धि हो सकती है।रुद्रपुर की ईश्वर कॉलोनी निवासी गरिमा ने पहले ही प्रयास में आईएएस की परीक्षा में 39 वी रैंक प्राप्त की। इनके पिता बिपिन नरूला एक पैथोलॉजी लैब में प्रबंधक हैं व माता शारदा नरूला गृहणी हैं। गरिमा ने वर्ष 2017 में सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा में उधम सिंह नगर जिला टॉप भी किया था।सिविल सेवा परीक्षा में राज्य के युवाओं की भागीदारी इस साल भी अच्छी रही। परीक्षा में दून निवासी मुकुल जमलोकी ने चौथी बार सफलता पाई, उन्होंने 161वीं रैंक हासिल की है। वर्तमान में वे सीएजी कार्यालय कोलकाता में डिप्टी अकाउंटेंट जनरल के पद पर कार्यरत हैं। बागेश्वर में गरुड़ निवासी कल्पना पांडे की 102 रैंक आई है। वहीं, मूलरूप से पिथौरागढ़ व वर्तमान में दून निवासी हिमांशु सामंत ने परीक्षा में 348वीं रैंक हासिल की है। मसूरी निवासी माधव भारद्वाज ने सिविल सेवा परीक्षा में 536वीं रैंक हासिल की है। इससे पहले उन्होंने यूपीपीसीएस परीक्षा में सफलता अर्जित की थी। वह वर्तमान में शामली में तहसीलदार के पद पर कार्यरत हैं। देर रात तक रिजल्ट सामने आने का सिलसिला जारी था।
बिना कोचिंग लिए तीसरे प्रयास में दीक्षिता बनी आईएएस अधिकारी
बिना कोचिंग लिए तीसरे प्रयास में मूल रूप से दन्या अल्मोड़ा की रहने वाली हल्द्वानी पीलीकोठी निवासी दीक्षिता जोशी ने यूपीएससी परीक्षा में 58वीं रैंक हासिल कर आईएएस अधिकारी बनकर देशभर में प्रदेश और जिले का मान बढ़ाने का काम किया है। दीक्षिता की माता दीपा जोशी पहाड़पानी के खीमराम आर्य राजकीय इंटर कॉलेज में हिंदी विषय की प्रवक्ता है और पिता आईके पांडे नैनीताल बीडी पांडे अस्पताल में फार्मासिस्ट के पद पर तैनात हैं।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.