233 total views

जनता को उम्मीद महंगाई पर कन्ट्रोल करेगी सरकार

बित्तमन्त्री सीतारमण बुद्ववारको 2023-24 के लिये आम बजट की घोषणा करेंगी यदि आम जनता के बजट की बात करे तो लोंगों के घर का बजट वर्तमान मे बहुत ही बिगड़ा है 2023 के आम बजट में लोगों को उम्मीद है कि सरकार टैक्सों मे कटौटी कर आम जनता को जरूर राहत देगी , हालांकि मुफ्त अनाज योजना ने सरकार की साख को निम्म वर्ग मे बचा कर रखा है । किन्तु मध्यम वर्ग इस महंगाई के बोझ तले दबा हुवा है इसको लेकर लोगों को काफी उम्मीदें है उम्मीद की जा रही है कि यूनियन बजट में सरकार मेक इन इंडिया को बढ़ावा देगी इसके लिये देने के लिए आयात शुल्क बढ़ाया जा सकता है, यदि ऐसा होता तो बर्तमान मे इसका असर यह होगा कि वे तमाम उत्पाद जो विदेशों से आयाद किये जा रहे है वह सामान महंगा होगा और मेक इन इंडिया प्रोडक्ट का बाजार बढ़ेगा। आरम्भ मे इलेक्ट्रानिक उत्पाद महंगे होंगे किन्तु धीरे -धीरे घरेलू बाजार प्रतिस्पर्धा मे आ जायेगा ,सरकार की ओर से अब तक छोटी बजट योजनाओं और जीवन बीमा योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए टैक्स में 1.50 लाख रुपये तक की छूट सरकार की ओर से दी जाती है। उम्मीद की जानी चाहिये कि इस सीमा को बढाया जायेगा ।

सरकार रियल स्टेट ब्यापार मे छा रही मंन्दी को कम करने के लिये घर खरीदने वालों को इस बजट मे राहत दे सकती है अब तक होम लौन लेने वालो को टैक्स मे दो लाख की छूट मिलती है उम्मीद की जाती है कि इसे बढाकर पांच लाख किया जा सकता है । यह छूट इनकम चैक्स की 24(b)के तहत मिलती है

सरकार लगातार विकास की योजनाओं का बी जे पी सरकार सोसियल सर्विॊ को मजबूत करना चाहेगी कोरोना काल के बाद लोगों रा रुझान बीमा केत्र की तरफ बढा है बीजेपी को इसका चुनावी फायदा भी मिला है.कोरोना काल के बाद स्वास्थ्य बीमा लेने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है. ऐसे में सरकार की तरफ से इस बजट में स्वास्थ्य बीमा पर मिलने वाली टैक्स में छूट को बढ़ाया जा सकता है. फिलहाल अगर कोई व्यक्ति अपना, पत्नी और बच्चों का स्वास्थ्य बीमा कराता है तो उसे 25 हजार रुपये और माता- पिता का स्वास्थ्य बीमा कराने पर पचास हजार रुपये टैक्स की छूट दी जाती है.

देश में किसान आन्दोलमों के प्रभावों रो कम करने तथा किसानों का सरकार रे पक्ष मे समर्थन दुटामे के लिये सरकार कृर्षि कर्ज बढोत्तरी कर सकती है । वहीं कृषि और किसानों के हित को देखते हुए इस बजट में खास एलान किए जा सकते हैं। हालांकि कृषि से होने वाली आय पर टैक्स नहीं लगता है, लेकिन कृषि उत्पादों का व्यापार करने वाले व्यापारियों को टैक्स में छूट दी जा सकती है फिलहाल सरकार ने पैक्ड़ राशन मे टैक्स लगाया है ।

रेल बजट भी अब आम बजट मे शामिल

सरकार पिछले वर्षों से ही देश मे वंदे भारत योदना के तगत नई ट्रेनों को चलाने , हाई स्पीड ट्रेन के लिए नए पैसेंजर कॉरिडोर और माल गाड़ियों के लिए डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर बनाने के पर बिचार कर सकती है देश मे नये रेलवे लाईनो का विस्तार के लिये इस बजट मे प्राविधान किये जाईगे भारत की चीन व पाकिस्तान से लगी सीमाओं की सुरक्ष के लिये रक्षा बजट को पिछले साल की तुलना में और बढ़ाया जा सकता है सरकार स्वदेशी उत्पाद पर भी जोर देंगी चीन से लगातार हो रही घुसपैठ पर भी सरकार पैनी नजर रखने के लिये बजट मे प्राविधान करेगी

जी एस टी रिटर्न भरने के प्राविधान करेगी सरल

भा ज पा सरकार के टैक्स दायरें मे अब छोटे व मझौले ब्यापारी भी है ब्यापारी टैक्स की जटिल प्रक्रिया को सरल करने की उम्मीद कर रहे है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.