Loading

अल्मोड़ा ।  जनपद के दौलाघट  इलाके मे एक क्रूर व निर्दयी ब्यक्ति ने पशु क्रूरता की हदें पार कर दी , इस ब्यक्ति ने बैल को पत्थरों से कूट- कूट कर मार डाला क्षेत्र का ही रहने वाला एक व्यक्ति गौ-वंशीय पशु की क्रूरता के साथ हत्या करते दिखाई दे रहा है इसका बीडियों सामने आया है । वीडियो के सामने आने के बाद स्थानीय लोगों के साथ पशु प्रेमियों में जोरदार आक्रोश बना है। जानी-मानी पशु प्रेमी कामिनी कश्य्यप ने मामले पर सख्त-से-सख्त कार्रवाई की बात कही है। वही गौ सेवा न्यास ने भी इस घटना की कड़ी निन्दा की है , तथी दोषी को सलाखों के पीछे डालने की मांग की है ।

वीडियों में दर्द से तड़पता पशु अपनी अंतिम सांसे लेता दिखाई दे रहा है। फिर भी पत्थरवाज का दिल नही पसीजा वह बैल के प्राण लेने तक पत्थर मारता रहा इस क्रूर ब्यक्ति की हरकतों को किसी ने मोबाईल मे कैद कर लिया आश्चर्य की बात यह है कि किसी ने भी इसे रोकने का प्रयास नही किया जबकि यह मामला गोविन्दपुर बाजार में राधा-कृष्ण मंदिर के पीछे घटित हुआ है। कहाजा रहा है कि कि वीडियों शूट करने वाले ने हत्यारे पर आरोप लगाया है कि उसने बैल को चाकू से काटा है ।

गौ सेवा न्यास के सचिव दयाकृष्ण काण्ड़पाल ने कहा है यह पहली घटना नही है इससे पहले भी कुछ लोग पशुओं को पेड़ो मे बाध कर भूखा प्यासा छोडते रहे है । उन्होंने कई बार ऐसे लोगों शिकायतें भी की है तथा ऐसे गौवंशीय पशुओं को गौशाला मे शरण भी दी है । परन्तु ऐसे लोगों पर जब कोई कार्यवाही नही होती तो इनका मनोबल और भी बढ जाता है । क्रिया कर्म मे उपयोग की गई गौवंश को भी लोग छोड रहे है गौ सेवा न्यास के सचिव दयाकृषण काण्डपास ने कहा कि वह लोगों से कह चुके है कि यदि उन्हे अपने संस्कारों को सम्पन्न करने के लिये गौवंशीय पशुओं की जरूरत है तो वे नियमानुसार गौशाला से ले जाये तथा संस्कार के उपरान्त गौशाला को वापस लौटा दे किन्तु सड़को मे ना छोड़े । उन्होने कहा कि क्षमता व संसाधनों की कमी के कारण वह गौवंश को क्षमता से अधिक गौशाला मे नही रख पा रहे है परन्तु लोगों को भी असंवेदनशील नही होना चाहिये । उन्होंने कहा कि बीड़ियो मे जिस क्रूरता से बैल को पत्थरों से कूटा जा रहा है उस कूर ब्यक्ति को सलाखों के भीतर डालना चाहिये ।

Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.