21 total views


अल्मोड़ा उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने डांडा कांडा अल्मोड़ा में सार्वजनिक भूमि पर दबंगई से कब्जा करने पॉक्सो सहित अनेक अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त दिल्ली सरकार के अधिकारी ए बी प्रेमनाथ को जबरन रिटायर करने का स्वागत किया है। उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि उपपा इस कुख्यात भू माफिया के खिलाफ पिछले लगभग डेढ़ दशक से संघर्ष कर रही थी उन्होंने प्रदेश सरकार से डांडा कांडा में प्लीजेंट वैली नाम से चलाई जा रही संस्था की परिसंपत्तियां तत्काल सरकार के पक्ष में जब्त करने की मांग की।
उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी के अनुरोध पर 2010 में प्लीजेंट वैली के द्वारा कब्जाई गई सरकारी जमीन पर भवन निर्माण, पेड़ काटने खनन करने की जांच जिला प्रशासन से करने का अनुरोध किया था। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा उच्च स्तरीय समिति बनाकर जांच की गई थी। जिसमें ए बी प्रेमनाथ के कारनामों का पर्दाफाश किया था और उसकी पत्नी आशा यादव की मैणी गांव में फर्जी दस्तावेजों से खरीदी गई 100 नाली जमीन की सरकार के पक्ष में जब्ती हुई। जांच कमेटी ने प्लीजेंट वैली की जमीन नियमानुसार सरकार के पक्ष में जब्त करने की संस्तुति की जिसके बाद उक्त अधिकारी उपपा नेताओं समेत जांच पड़ताल करने वाले स्थानीय लोगों यहां तक कि पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के खिलाफ भी आपराधिक साजिश कर रहा था। इसी दौरान अक्टूबर 2022 को ए बी प्रेमनाथ को डांडा कांडा में नाबालिक से दुराचार के आरोप में गिरफ्तार कर पॉक्सो एक्ट में गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद वह निलंबित कर दिया गया था। दिल्ली, अंडमान निकोबार के 1997 बैच के अधिकारी ए बी प्रेमनाथ के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में आय से अधिक संपत्ति जमा करने समेत अनेक अपराधिक मुकदमे चल रहे हैं। प्राप्त जानकारियों के अनुसार ए बी प्रेमनाथ को सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा 3 माह का 406830 रुपया वेतन अग्रिम अदा कर तत्काल प्रभाव से पद मुक्त करने के आदेश दिए हैं।
उपपा ने इस आदेश का स्वागत करते हुए एबी प्रेमनाथ के आपराधिक मामलों की उच्च स्तरीय जांच कर प्लीजेन्ट वैली डांडा कांडा की परिसंपत्तियां तत्काल जब्त करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.