254 total views

अल्मोड़ा 28 मई पालिकाध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी ने कहा कि अल्मोड़ा मल्ला महल सुधारीकरण प्रकरण मे बिषय विशेषज्ञों की तैनाती की मांग वे पहले से ही करते आ रहे है इसके लिये धरोहर बचाओं संघर्ष समिति ने आन्दोसन किया व गिरफ्तारी दी । कुमाऊ कमिश्नर दीपक रावत ने इसका संज्ञान लिया , अब प्रशासन को बिशेषज्ञों की राय लेकर संग्रहालय मल्ला महल में ऐतिहासिक संग्रहालय की स्थापना करनी चाहियें । उन्होंने कहा कि कलेक्ट्रेड के स्थानान्तरण के बाद लोगों आने जाने की ब्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु वाहनों के आवागमन की ब्यवस्था बढाई जाय, तथा एक रूपवे का निर्माण किया जाय।
उन्होंमे कहा कि पूर्व में मल्ला महल के निर्माण के सम्बन्ध मेॆ इसी लिये आन्दोंलन किया जा रहा था ताकि संग्रहालय का पुरातन स्वरूप कायम रहे पर्यटन बढे, प्रकाश जोशी मे कहा कि उनकी इसी बात को कुंमाऊ आयुक्त दीपक रावत ने भी ऐसा ही कहा ।
जिलाधिकारी बन्दना की कार्यप्रणाली पर संतोष ब्यक्त करते हुवे उन्होंने कहा कि चौदह करोड़ की लागत से बन रहे संग्रहालय मल्ला महल की जानकारी ना होना जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का उदाहरण है । उन्होने कहा कि अमियमितता की जांच भी होनी चाहिये ।
प्रकाश चन्द्र जोशी ने कहा कि अल्मोड़ा के सीवर का कार्य भी बहुत महत्वपूर्ण है । इस समय केन्द्र सरकार जापान के सहयोग से सीवर लाईनो का बिकास कर रही है । अल्मोड़ा को भी इसमे आच्छादित किया जाय। जिससे का पर्यटन ब्यवसाय बढ सके । उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा नगर पालिका को नक्सा पास कराने का अधिकार पूर्ववत दिया जाय नगर पालिका के पुराने नक्से प्रशासन द्वारा जफ्त किये गये है ।उन्हें पालिका को लौटाया जाय । प्रकाश जोशी ने कहा कि नक्से प्राधिकरण लागू होने से पूर्व के है । इनका प्राधिकरण से कोई लेना देना नही है । प्रकाश जोशी ने कहा कि प्राधिकरण लागू होने के बाद पालिका को लगभग तीस लाख रुपये का नुकसान हो रहा है , पालिका को लगभग दो करोड़ रूपये प्रतिवर्ष का घाटा हो रहा है ।