84 total views


अल्मोड़ा 25 मई, जिलाधिकारी वंदना की अध्यक्षता में आज नवीन कलेक्ट्रेट में जिला उद्योग मित्र की बैठक आयोजित की गई। जनपद में पंजीकृत उद्यम इकाइयों एवं सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम नीति तथा विशेष एकीकृत औद्योगिक प्रोत्साहन नीति के अंतर्गत आने वाले उद्यमियों के ब्याज उपादान के दावों एवं अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई। इस दौरान जिलाधिकारी ने जनपद में उद्योगों के लिए मार्ग प्रशस्त करने हेतु संबंधित विभागों को निर्देशित किया कि मौजूदा उद्यमियों के सभी विभागीय कार्यों हेतु प्रपत्रों की एक चेक लिस्ट प्रदान की जाए जिससे लाभार्थी को पता चल सके कि किस कार्य के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि आवेदनकर्ताओं एवं कार्यरत उद्यमियों को विशेष तौर पर सुझाव भी दिए जाएं कि वह किन किन पात्रताओं को पूरा करता है तथा किन किन योजनाओं के लिए पात्र है। इस दौरान उन्होंने जनपद में पंजीकृत सभी प्रकार के उद्यमियों के बारे में जीएम डीआईसी से जानकारी प्राप्त की तथा यह निर्देश दिए कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम नीति के तहत पात्र लोगों को नीति के बारे में बताया जाए एवं उन्हें सरकार की नीति के तहत विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाए जाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि समय सीमा के तहत सभी प्रक्रियाओं को पूरा कर तथा योजनाओं के लिए चयनित सभी पात्र लोगों से संबंधित योजनाओं की पूरी जानकारी साझा की जाए तथा आवश्यकता पड़ने पर व्यक्तिगत तौर पर बात भी की जाए। उन्होंने कहा कि यदि किसी कारण वस कोई उद्यमी योजनाओं में निवेश करने के लिए इच्छा जाहिर न करता हो, तो विभाग उसके कार्य न करने के कारणों का पता संबंधित व्यक्ति से संपर्क करके लगाएं तथा आवश्यकतानुसार उसकी विभागीय समस्याओं का समाधान किया जाए। बैठक में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम नीति तथा विशेष एकीकृत औद्योगिक प्रोत्साहन नीति के अंतर्गत आने वाले उद्यमियों के ब्याज उपादान मामलों पर भी चर्चा की गई। उद्यमियों ने अपनी अपनी समस्याओं को बैठक में रखा जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को सभी प्रक्रियाओं को पूर्ण करने के निर्देश दिए। तथा निर्देशित करते हुए कहा कि गैर जरूरी कारणों के उद्यमियों को कार्यालय के चक्कर ना कटवाएं। उनकी समस्याओं का समाधान समय सीमा के तहत ही करना सुनिश्चित करें।

बैठक में महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र मीरा बोहरा, लीड डिस्ट्रिक्ट मैनेजर डीएस गरब्याल, ईई यूपीसीएल केएस खाती समेत अन्य अधिकारी एवं उद्यमी उपस्थित रहे।