92 total views

अल्मोड़ा -22-मई-आज यहां जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में उक्रांद के जिलाध्यक्ष शिवराज बनौला एवं पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रह्मानन्द डालाकोटी ने कहा है कि अल्मोड़ा सदर तहसील को जिला प्रशासन द्वारा बार- बार अभी कुछ वर्ष और न हटाये जाने संबंधी बयान जारी करते रहने के बावजूद एकाएक हटाये जाने पर कड़ी आपत्ति व्यक्त की है ।।उक्राद जिला ईकाई इसके बिरूद्ध जन हस्ताक्षर अभियान तथा आन्दोलनात्मक कदम उठायेगी उक्रान्द नेताओने कहा है कि सत्तारूढ़ भाजपा,व मुख्य बिपक्षी कांग्रेस इस मुद्दे पर खामोश रहे अगले हफ्ते इन दोनों दलों,राज्य सरकार तथा जिला प्रशासन के बिरूद्ध न्याय के देवता के रूप में बिख्यात चितई गोल देवता के मंदिर में घात भी डालेगी, उक्रांद नेताओं ने कहा कि जिलाधिकारी कार्यालय के साथ साथ तहसील के भी पांडेखोला चले जाने से अल्मोड़ा शहर सहित खासपर्जा पट्टी,भैसियाछाना, धौलादेवी के अल्मोड़ा तहसील से संबद्ध ग्रामों के निवासियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा क्योंकि पांडेखोला जिलाधिकारी कार्यालय हेतु न तो कोई समुचित यातायात की ब्यवश्था है और न वहां कोई अन्य सुविधाएं । शहर से इतनी दूर जिलाधिकारी कार्यालय के चलते जहां आम ग्रामीण जिलाधिकारी कार्यालय के काम के साथ बाजार के निजि कार्य भी नही कर पायेंगे । यदि कार्य से संबंधित अधिकारी कर्मचारी उस दिन न मिलैं तो आम गरीब लोग पूरा दिन और बहुत धन खर्च कर भी खाली हाथ लौटेंगे और फिर महिनों तक जिलाधिकारी कार्यालय जाने के लिए धन और हिम्मत नहीं जुटा पायेंगे जिससे निश्चित ही जन साधारण के जरूरी कार्य प्रभावित हौंगे ।और उन्हें आर्थिक-मानसिक परेशानी झेलनी पड़ेगी जिला प्रशासन ने अभी यह भी सुनिश्चित नहीं किया है कि पुराने जिला मुख्यालय पर जो पत्र लेने की ब्यवश्था की गयी थी वह जारी रहेगी या नहीं यदि वह सुविधा भी हट जाती है तो जनता को सरकार तक अपनी बात को पहुंचा पाना भी कठिन कार्य हो जायेगा।